उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Monday, November 3, 2014

ऑनलाइन टूर व्यापार में कीवर्ड ऑप्टिमाइजेसन का महत्व

ऑनलाइन टूर व्यापार में कीवर्ड ऑप्टिमाइजेसन का महत्व 

                            Importance of Keyword Optimization in Tourism Online Marketing 

        (Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--97  

                                                      
उत्तराखंड में पर्यटन  आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 97   

                                               लेखक : भीष्म कुकरेती  (विपणन  विक्री प्रबंधनविशेषज्ञ ) 

किसी भी ऑनलाइन व्यापार में कीवर्ड ऑप्टिमाइजेसन से  सर्च इंजिन ऑप्टिमाइजेसन की प्राप्ति होती है। 
 कीवर्ड ऑप्टिमाइजेसन का अर्थ होता है उन शब्दों की खोज करना जिन्हे ग्राहक मुख्य रूप से गूगल सर्च /सर्च इंजिन में  सर्च /खोज करते हैं ; उन शब्दों का विश्लेषण करना और अपने वेब साइट में प्रयोग करना जिससे की वांछित सर्च इंजिन ऑप्टिमाइजेसन प्राप्त हो सके याने सर्च में अपनी वेब साइट सबसे प्रथम पृष्ठ या दूसरे पृष्ठ में आ सके। 
 कीवर्ड ऑप्टिमाइजेसन कोई एक दिन का काम नही होता है अपितु ऑनलाइन व्यापार हेतु कर वक्त का कार्य है। हर समय ऑनलाइन व्यापारी को कीवर्ड के बारे में संवेदनशील होना आवश्यक है। 
कीवर्ड की जानकारी व्यपारियों ही नही जो भी ऑनलाइन में पोस्ट करता है जैसे लेखिका या लेखक आदि उसे भी कीवर्ड  जानकारी होनी चाहिए. 
कीवर्ड का हिंदी अनुवाद है शब्दों की चाभी याने वे चाभी सम्य शब्द जो  सर्च इंजिन या गूगल सर्च का ताला खोलते हैं. वास्तव में ये शब्द वे होते हैं जिन्हे ग्राहक अपनी सर्च /खोज करते समय गूगल सर्च /सर्च इंजिन में टाइप करते हैं. 
जैसे कि यदि किसी यूरोप वासी को भारतवर्ष में यात्रा करनी है तो अवश्य वह गूगल सर्च /याहू सर्च आदि में Tour in India टाइप करेगा . तो ये दो शब्द विदेशी टूरिस्टों के हिसाब से की वर्ड हैं। 
माना कि किसी भारतीय को सुहागरात मनाने किसी पहाड़ी स्थान पर जाना है तो वह Honeymoon hill station टाइप कर सकता है।  यदि अधिसंख्य ग्राहक Honeymoon hill stationटाइप करते हैं तो ये शब्द की वर्ड कहलाये जाएंगे।  स्थान , वर्ग व समय के हिसाब से प्रत्येक व्यापार या ब्लॉग के विशेष की वर्ड होंगे।   की वर्ड ग्राहक  सर्च के समय टाइप करते हैं और  तरह गूगल में इन की वर्ड के सहारे कई पेज खुल जाते हैं. प्रत्येक ऑनलाइन व्यापरी चाहता है कि उसका पेज प्रथम पेज पर खुले।  सर्च इंजिन के प्रथम पेज पर वेब साइट का आना ही सर्च इंजिन ऑप्टिमाजेसन है और इस प्रक्रिया में की वर्ड ऑप्टिमाइजेसन (वेब साइट के विषयों में ग्राहक द्वारा 'की वर्'ड का प्रयोग )  का बड़ा महत्व है।
                   SEO की वर्ड ऑप्टिमाइजेसन के लाभ 
१- सही व विशिष्ठ की वर्ड ऑप्टिमाइजेसन या ग्राहकों द्वारा प्रयोग किये गए शब्दों को वेब साइट में लाने से आपके ग्राहक आप तक पंहुचते हैं। 
उदाहरण- मेरे द्वारा शीर्षक में किये गए शब्द ग्राहक को मेरे लेख से जोड़ते हैं।  यदि कोई ग्राहक उत्तराखंड में पर्यटन  आतिथ्य विपणन प्रबंधनटाइप करेगा तो संभावना है कि मेरा यह लेख गूगल के प्रथम पेज में आ जाय। 
 २-की वर्ड की जानकारी से आप अपने वेब साइट के विषय  में बदलाव कर सकते हैं जिससे कि ग्राहक आप तक पंहुच सकें। 
३- की वर्ड की जानकारी से आप ग्राहकों के व्यवहार की मीमांसा कर पाते हैं। 

                     की वर्ड की खोज 
आपको अपने व्यापार में ग्राहकों द्वारा प्रयोग किये गए की वर्ड की खोज करनी आवश्यक है 
आपको अपने प्रतिद्व्न्दी द्वारा प्रयुक्त की वर्ड की जानकारी होनी आवश्यक है 
गूगल आदि सर्च इंजिन इस प्रकार की खोज करने में समर्थ हैं।
                   की वर्ड का प्रयोग 
निम्न जगहों पर की वर्ड का प्रयोग आवश्यक है 
शीर्षक 
विवरण 
हेडिंग , सब हेडिंग व विषय में 
मैटा टैग में 
फ़ाइल के नामों में 
फिल्म , चित्रों में 
 इन बॉन्ड -आउट बाउंड लिंकिंग पेजों में 
URL में 
           की वर्ड के गुण 
रचनात्मक 
आकर्षक 
विशिष्ठ 
लम्बे पूँछ वाले (विशेषकर शीर्षक )
पर्यायवाची शब्दों में 
                    की वर्ड घनत्व याने एक पेज में कितने की वर्ड आवश्यक हैं ? 

यद्यपि व्यापारियों के लिए की वर्ड घनत्व की जानकारी सलाहकारों से सही  तरह से मिल पायेगी फिर भी उन्हें कुछ ज्ञान आवश्यक है 
किसी भी लेख या फ़ाइल में की वर्ड की गहनता आवश्यक है याने की वर्ड का बार बार दुहराव होना ।  सभी शब्दों में से 2  से 8  प्रतिशत की वर्ड या पर्यायवाची शब्द आवश्यक होते हैं। 
अत्याधिक की वर्ड घातक भी होते हैं क्योंकि सर्च इंजिन इन्हे रोक देता है 
की वर्ड शीर्षक व प्रथम पंक्तियों  में अधिक हों तो लाभकारी होते हैं। 
पेड़ कलिक ब्यापार से अब की वर्ड  ऑप्टिमाइजेसन किया जाता है।  यही कारण है क़ि मेरे याने भीष्म कुकरेती के लेखों में Marketing of Travel, Tourism, Uttarakhand   का दुहराव है किन्तु मेरा लेख गूगल सर्च में प्रथम पेज पर इस की वर्ड प्रयोग से भी नही आता है क्योंकि travel व्यापारियों ने गूगल आदि से की वर्ड खरीद लिए हैं और कम से  चार पेज तक मेरे पेज नही खुलते हैं।   वैसे मेरा भी दोष है कि मुझे सही की वर्ड की जानकारी नही है।
एक उदाहरण की वर्ड समझने के लिए सरल है -
गढ़वाली पाठक गूगल में गढ़वाली कविता /Poetry टाइप नही करता या उसे कविता का लोभ नही है।  जब कि Folk Song टाइप करता है अतः गढ़वाली कवियों को अपने ब्लॉग में Garhwali Poetry and Folk Song को की वर्ड बनाकर प्रयोग करना चाहिए।