उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Tuesday, July 22, 2014

गढ़वाळि व्यंग्यकोष -भाग -10

Garhwali Satire Dictionary part 10 
 
                          चबोड़्या  --- भीष्म कुकरेती 



जै ऐना मा  मि बिगरैल नि दिख्यों  वु ऐना इ  नी च। 
सराब , सुल्फा अर रैबार , मन का तीन यार.
गरुड़ , ज्यूंरा अर ब्रह्मा दुयुं तैं दगड़ी भट्यान्द 
जंग लगण -कम्युनिस्ट हूण 
जंतर -मंतर -हौरु कुण अंधविश्वास अर अफुकुण विश्वास 
जनम दिन - औफिसियली गिफ्ट पाणो दिन 
सरकारी जंगळ  -जै तैं बेचिक हम बुल्दां कि हम इकॉनोमिक रिफॉर्म करणा छंवां 
जनता - जैंक याद नेताओं तैं चुनावुं बगत ही आंद 
जनता दरबार - लोगुं तैं बौगाणो जळसा 
जनवासा या हरम - यांक अर्थ नारायण दत्त तिवारी तैं पुछण पोड़ल 
जनहित -राजनीतिज्ञों तकियाकलाम 
जबरदस्ती - उत्तर प्रदेश की पहचान 
जबाबदेह - राजनीतिग्युं  तकियाकलाम 
जीमण -रीतिभोज , भूक चमकाणै एक दवा 
जांच आयोग - कभी ना खत्म हूण वाळी सरकारी कहानी 
जांच विभाग - जैकी जांच का वास्ता सीबीआई भिजे जांद 
जाति प्रमाण पत्र  - रिजर्वेसन का वास्ता 
जलजीरा - अमेरिकी कोकाकोला द्वारा थिंच्युं, पिट्युं , थपड़ायूँ विशुद्ध भारतीय पेय पदार्थ 
जाळ साजि - पवन बंसल का बागवानी का फूल 
जीवन बूटी -राशन कार्ड 
जनता दल - अमीबा जु अफु तैं ज़िंदा रखणौ बान हर समय टुटणु रौंद 


व्यंग्य शब्दकोश जारी रहेगा ……।

Copyright@ Bhishma Kukreti 22 /7/2014


Garhwali Satire  Dictionary, Garhwali Satire  Dictionary collected and edited by born in village Jaspur ; Garhwali Satire  Dictionary collected and edited by born in Dhangu Patti ; Garhwali Satire  Dictionary collected and edited by born in Dwarikhal Block ; Garhwali Satire  Dictionary collected and edited by born in Gangasalan Pargana ; Garhwali Satire  Dictionary collected and edited by born in Lainsdowne Tehsil ; Garhwali Satire  Dictionary collected and edited by born in Pauri Garhwal ; Garhwali Satire  Dictionary collected and edited by born in Uttarakhand; Garhwali Satire  Dictionary collected and edited by born in Central Himalaya ;Garhwali Satire  Dictionary collected and edited by born in  North India;Garhwali Satire  Dictionary collected and edited by born in South Asia ;Garhwali Satire Dictionary; Garhwali send-up lexicon; Garhwali spoof vocabulary; Garhwali lampoon glossary; Garhwali Satire phrase book; word list; Garhwali Humor, Satire thesaurus;   

Monday, July 21, 2014

मेरा पहाड़ की पछाण और वख का खाणा की रसाण की बात ही अलग छ

मेरा पहाड़ की पछाण और वख का खाणा की रसाण की बात ही अलग छ

 HillyMusic


(Hillymusic.com Website Provide Contents for Online Listening only we do not allow downloads....Please Buy Original Cd/Dvd's for excellent quality of music and support your favorite regional artists ......... Happy Listening..)

Audio: http://hillymusic.com/music/

Video: http://hillytube.com/

गढ़वाळि व्यंग्यकोष -भाग -9

Garhwali Satire Dictionary part -9

चबोड़्या --- भीष्म कुकरेती

घायल की गति घायल जाने - डा मुरली मनोहर जोशी (2014 चुनाव रिजल्ट )
घीयक घौड़ फुट कवौं राज हूण -मंत्री जीक रिस्तेदारूं कुण आपदा राशि आबंटन या टेंडर खुलणौ सूचना
घुट्यांद बि नी च , फिंक्यांद बि नी च -शासक दलौ कुण संसद सत्र
चरणामृत - उत्तराखंड मा हरेक शासक दल कु विधायक तैं पार्लियामेंट्री सेक्रेटरी पद दीण
चर्चा - विरोधी दल कु पुळयाण अर शासक दल कुण बरजात पड़ण
चंद्रयाणी - अपक्ष दल से शासक दल मा शामिल हूण
चिराग तौळ अन्ध्यरु - दिल्ली मा बलात्कार की आम घटना
चौबे गए छब्बे बनने दुबे होकर लौट आये - चुनाव से पैल कैं इन पार्टी मा शामिल हूण ज्वा बुरी तरह से चुनाव हार जाय
चौबे गए छब्बे बनने दुबे होकर लौट आये -केजरीवाल द्वारा प्रधान मंत्री बणनो चक्कर मा मुख्यमंत्री पद छुड़न
चोर का माल चंडाल खाए -मंत्री जीक घूस खयाँ पैसों रख्वळी करण वाळ रिस्तेदार
सदा की प्यासी चोळी -लालकृष्ण आडवाणी 
सदा का प्यासा चातक - कॉंग्रेस पार्टी जैं तैं लीडर ऑफ अपोजिसन पद नी मिलणु च
चुंबक - कुर्सी
चुप कराणो दवा -पार्टी व्हिप
चूड़ा कर्म संस्कार - बजट पेश करण
चूंड चांडिक साफ़ करण -पटवारी या पुलिस जीक गस्त
छिंजण - केंद्र से गाँव तक स्कीम राशि पौंछण
छुवाछूत -जब कैं सेक्युलर पार्टी तैं भाजपा वळि सरकार मा शामिल नि हूण हो
छांनु -छिपरु (भूत पिशाचुं कुण धर्युं भोजन )- संसद मा मंत्री द्वारा मा घोर विरोधी का सवालुं जबाब

व्यंग्य शब्दकोश जारी रहेगा ……।
Copyright@ Bhishma Kukreti 21/7/2014

गढ़वाळि व्यंग्यकोष -भाग 8

Garhwali Satire Dictionary part -8

चबोड़्या --- भीष्म कुकरेती

घंटाघर - अंग्रेजुं समलौण जु बतांद कि समय कु कबि महत्व छौ
घड़ी - कथगा अबेर तक जाण दिखणो वास्ता एक यंत्र
घरवळि - एक अनबूझ पहेली
घरवळ (पति ) मुट्ठी मा करणो मनिख
घिसा पिटा शब्द - गरीबी हटाओ
घोंसला - पार्टी हेड क्वार्टर ?
घोषणा करण - नेताओं आदत
घोषणा - एक कबि ना पूरी करणै सौं -सौगंध
ग्रहण - समाचार टीवी वाळु कुण ब्रेकिंग न्यूज
चक्का - हड़ताल करणो एक अस्त्र बि अर शस्त्र बि
उत्तराखंड मा चकबंदी - गोल गोल घुमण
चक्रव्यूह - संसद मा सरकार तैं नीचा दिखाणो विरोधी दल की नीति
चप्पल - कबि बद्तमीज छ्वारों तैं पिटणो नौन्युंक एक हथियार हूंद छौ
चरखी -जखमा कबि गोबिंदी बैठदी छे
चरखा - गांधी जी तैं तर्पण दीणो साजो समान
चर्बी - नेताओं पछ्याणक
चाहत -लालकृष्ण आडवाणी
चापलूसी - जै बगैर चुनौ टिकेट नि मिल्दन
चारा - लालू प्रसाद यादवो नक्वळ (नास्ता ) अर जग्गनाथ मिश्रा क डिन्नर
चिकित्सा - अमीरुं घमंड
चिकित्सक - जु गांऊंमा खुर्दबीन से खुज्याण पर बि नि दिखेंदन
चेतावनी - संसद मा एक प्रश्न चिन्ह
चित्त भ्रम - अच्छे दिन आएंगे पर भरवस करण
चीखपुकार - संसद मा काम हूणु च की असली पछ्याणक
चुसणा दिखाण -गैरसैण तैं दुसरि राजधानी घोषित करण

व्यंग्य शब्दकोश जारी रहेगा ……।
Copyright@ Bhishma Kukreti 20/7/2014

गढ़वाळि व्यंग्य शब्दकोष -भाग 7

Garhwali Satire Dictionary part -7

चबोड़्या --- भीष्म कुकरेती
गुड़िया - नेतौं आश्वासन
गुणगाथा -कॉंग्रेस्युँ द्वारा नेहरू गांधी प्रशंसा कथा
गुब्बारा - अच्छे दिन आने वाले हैं जन नारा
गुणनाशक -विरोधी पार्टी
गुत्थी -बोफोर्स काण्ड
गुनाहगार -जु पुलिसौ नजर मा नि आंद
गुमराह करण -नेताऊँ अमोघ शस्त्र
गुरु -जु हमेशा गुड़ हि रौंद अर शक्कर नि बणद
गुर्दा - पैसा कमाणो एक अंग
गृह युद्ध - संसद की याद
गोलमाल - नेता अर अधिकार्युं धरम -करम
ग्लानि - ज्वा , लालू यादव , सुरेश कलमाड़ी , कलमुंडी ए राजा , पवन बंसल, आशा राम बापू से दूर ही रौंदी
घड़ियाली अंसदरि (आंसू )- बलात्कार पर मुलायम सिंह , शिवराज चौहान , वसुंधरा राजे , अशोक गहलौत का बयान
घननाद - कम्युनिस्टुं आर्थिक उदारवाद पर बोलबचन
घमंडी - सरकारी राजनीतिक पार्टी
घमसाण -संसद या विधान सभा
घटिया - राशनै दुकानिक माल

व्यंग्य शब्दकोश जारी रहेगा ……।
Copyright@ Bhishma Kukreti 19 /7/2014

Thursday, July 17, 2014

रोडवेजो बस याने रिटायरमेंट की उमर बीतणो बाद बि नि थकदी डेडली बस

घपरोळया , हंसोड्या , चुनगेर ,चबोड़्या -चखन्यौर्या -भीष्म कुकरेती      
                     
(s =आधी अ  = अ , क , का , की ,  आदि )

 अधिकतर रोडवेजौ बस हेरिटेज बस हूंदन याने यी बस रोड लैक ना हेरिटेज म्यूजियम लैक हूंदन कि लोग यूँ बसूं तैं देखिक अपण साहस अर आशावादी गुणों प्रशंसा करि सौकन।  यद्यपि राज्य सरकार हर बार घोषणा करदी कि यूँ हेरिटेज बसों तैं अगला द्वी तीन मैना मा रिटायर करे जाल अर पेन्सन पट्टा का ऐवज मा राज्य स्तर कु हेरिटेज म्यूजियम मा धरे जालि किंतु तब तलक जनता अपण प्रदेश मा रिक्शा  भाड़ा वृद्धि , दुसर प्रदेश मा बलात्कार वृद्धि , तिसर प्रदेश मा समुद्री तूफ़ान वृद्धि विरुद्ध प्रदर्शन करद करद खेल ही खेल मा आठ दस राज्य सरकारौ बस फूंकी दींदी अर चलण त राइ दूर सड़क मा खड़ नि हूण लैक यूं बसों तैं राज्य सरकार रोड मा दौड़ाणि रौंद। सरकारौ बुलण च जै दिन जनता बस फुकण बंद कौर द्याली पुराणि बसों तैं रिटायरमेंट दिए जाल।  यी बस अवश्य ही रिटायरमेंट डेट का हिसाब से बि आउट ऑफ डेटेड छन किन्तु अबि यी अनुभवी बस टायर याने थकद नि छन। 
    अचकाल जब बि क्वी बुड्या भौतिक संसार से मुक्ति चाँद तो वै बुड्याक बच्चा बुड्या तैं राज्य परिवहन की अनुभवी बसुं मा बैठाळ दींदन अर एक घंटा मा बुड्या का अंजर पंजर ढीला ह्वे जांदन अर बस से उतरिक वो सीधा ड्यार जांद अर फिर एक दिन बाद स्वर्ग धाम पौंचि जांद।  स्वर्ग धाम पौंछणो सुगम साधन छन राज्य परिहवन की बस !
  अधिकतर राज्य परिहवन की बसों से दुसर वाहनों से टकरैक   एक्सीडेंट नि हूंद। कारण साफ़ च रोडवेज की बस जब चल्दन तो वो सरग गगड़ान जन हल्ला करदन अर बकै वाहन चालक चाह कर बि रोडवेजौ बसों पास नि ऐ सकदन। एक दैं  चार पांच बृद्धाश्रम जाण लैक अनुभवी परिहवन बस इकछुटिबद्रीनाथ -माणा गौंमा पौंछि गेन अर दुसर दिन चीन का अखबारों मा खबर छप गे कि माणा बॉडर पर भारतीय सेना हजारों पैटन टैंक दौड़ाणी च।  वैदिन तत्काल हमर विदेश मंत्री तैं चीन जाण पोड़ अर चीनी विदेश मंत्री तैं समझाण पोड़ कि माणा बॉडर पर हजारों पैटन टैंक नि छया अपितु राज्य सरकार की अति अनुभवी चार पांच बस छया।  हरेक परिवहन बस अपण दगड़ धुंवाक व्हिरपूल याने धुंवाक बबंडर लेकि चलणि रौंदि अर यांसे लोगुं तैं खासकर पहाडुं मा पैसेंजरों तैं पता चल जांद कि रोडवेज की बस आस पास ही च।  हाँ भौत दैं बरसात मा गलतफहमी अवश्य हूंदी कि यु कुयड़ च कि राज्य परिवहन की बसो धुंवा ?
  हमर राज्य की बस वास्तव मा भड़ लोदी रिखोला का अवतार छन अर  अपण तागत से अधिक मनुष्य भार उठाणा रौंदन। 
भार वहन की शक्ति  मामला मा रोडवेज की हरेक बस अल्ट्रा मैक्ज़िमम स्पेस यूटिलाइजेसन  या अल्ट्रा स्पेस ऑप्टिमाइजेसन सिद्धांत पर चल्दन। बस की क्वी जगा खाली नि रौंद -क्या बस भितर क्या बस अळग हरेक स्थान पर लोग बैठ्याँ   रौंदन।  भारत का प्रत्येक निर्माता  अपण प्रोडक्सन मैनेजरूँ   तैं अल्ट्रा मैक्ज़िमम स्पेस यूटिलाइजेसन प्राप्ति की ट्रेनिंग का वास्ता पहाड़ भिजदन अर यि मैनेजर    हमर बसों मा सफर करिक अल्ट्रा मैक्ज़िमम स्पेस यूटिलाइजेसन का व्यवहारिक प्रशिक्षण प्राप्त करदन। 
यी बस नामो बस  छन, निथर इंटरनेश्नल ऑटोमोबाइल नियमों हिसाब से यूं बसुं बस मा चलण नि ह्वे सकद । 
वास्तव मा रोडवेजो बस याने रिटायरमेंट की  उमर बीतणो बाद बि नि थकदी डेडली  बस छन।


** भोळ -बस का बन बनिक पैसेंजर वृतांत पौढ़ो

Copyright@  Bhishma Kukreti  13 /7 2014   
    

*लेख में  घटनाएँ , स्थान व नाम काल्पनिक हैं । 


Garhwali Humor in Garhwali Language on worst conditions of state transport buses, Himalayan Satire in Garhwali Language on worst conditions of state transport buses, Uttarakhandi Wit in Garhwali Language on worst conditions of state transport buses , North Indian Spoof in Garhwali Language on worst conditions of state transport buses , Regional Language Lampoon in Garhwali Language on worst conditions of state transport buses, Ridicule in Garhwali Language on worst conditions of state transport buses , Mockery in Garhwali Language on worst conditions of state transport buses, Send-up in Garhwali Language on worst conditions of state transport buses, Disdain in Garhwali Language, Hilarity in Garhwali Language on worst conditions of state transport buses, Cheerfulness in Garhwali Language on worst conditions of state transport buses; Garhwali Humor in Garhwali Language from Pauri Garhwal on worst conditions of state transport buses; Himalayan Satire in Garhwali Language from Rudraprayag Garhwal on worst conditions of state transport buses; Uttarakhandi Wit in Garhwali Language from Chamoli Garhwal on worst conditions of state transport buses; North Indian Spoof in Garhwali Language from Tehri Garhwal on worst conditions of state transport buses; , Regional Language Lampoon in Garhwali Language from Uttarkashi Garhwal on worst conditions of state transport buses; Ridicule in Garhwali Language from Bhabhar Garhwal on worst conditions of state transport buses; Mockery  in Garhwali Language from Lansdowne Garhwal on worst conditions of state transport buses; Hilarity in Garhwali Language from Kotdwara Garhwal on worst conditions of state transport buses; Cheerfulness in Garhwali Language from Haridwar on worst conditions of state transport buses;

Music Notation, Sangit Lipi of Pandon Jagar

Characteristics of Garhwali Folk Dramas, Folk Theater/Rituals and Traditional Plays part -187       
Classical Rag Ragini, Tal, Bol, Music Beats, Music Notations or Music Scripts in Garhwali Folk Songs and Folk Music part -17  
    गढ़वाली लोक गीत संगीत (गढ़वाली लोक नाटकों में ताल,राग रागिनी-17
                             
                     Presented by Bhishma Kukreti (Folk Literature Research Scholar)

                    Draupadi Swayambar (selecting Groom by bride) is one of the important parts of Pandon Nach-Gan (dance-Song of Pandav Folklore).
 There are combination of Dhol-Damau Playing and Song singing in the Pandon Dance-Song. The Dhol-Damau player play 12 beats in Dhol Damau playing in Pandon Dance-Song.
The following is Music Notation, Sangit Lipi of Pandon Jagar od Draupadi Swayamber sequence-
पंडों (पांडव ) लोकनृत्य की संगीत लिपि


 पांडव लोकनृत्य में द्रौपदी स्वयंबर  प्रमुख घटना है।
औवजी ढोल -दमाऊ वादन मे 12 मात्राओं की विशिष्ठ ताल बजाकर पाण्डव नृत्य -गीत संपन करते हैं। 
केशव अनुरागी ने ढोल दमाऊ की 12 मात्राओं व जागर  जुगलबंदी लिपि इस प्रकार दी हैं -

द्रुपद - बोल बोल दुरपदि कै माल बरदि।
         तू बोल बोल बेटि कै माल बरदि।
द्रौपदी - मिन जाण बुबा जीं वै माल कुणि।
         जू बाल वेद मच्छी कों आंखो ब्यादलो। 
ढोल दमाऊ की जुगलबंदी
         झे   गु  तु     झे   झे        झे  ग्   त    ग्   ता  -
----------------------------------------------------------------------------

          -    सा  ।   सा   -    सा    रे   रे   म  ।       म   -
      बो   s   ल      बो   s   ल   ।  दु     प   ।    दि   कै   s
       प   -      ।    प   म -     रे   म   रे  ।   म    प    -
      मा   s   ल ।    ब    र   s      दी   s  s   ।   तू    s    s
      ध    -    ध  ।       प   प                    रे    
      बो   s        बो     s   ल       ।  बे   s  टी  ।   s    कै    s
      प    -             रे     -  ।      -  -      -    -    -
     मा     s   ल   ।   ब   र     s      दी    s   s ।   s    s     s
      गीत के बाकी पद इसी प्रकार गाये जाते हैं।
s =आधी अ
मूल संगीत लिपि -केशव अनुरागनाद नादिनी (अप्रकाशित )
      संदर्भ - डा शिवा नंद नौटियाल गढ़वाल के लोकनृत्य गीत

Copyright@ Bhishma Kukreti 12/7/2014 for interpretation notes  
Contact ID -bckukreti@gmail.com
Characteristics of Garhwali Folk Drama, Community Dramas; Folk Theater/Rituals and Traditional to be continued in next chapter
1-Dr Shiva Nand Nautiyal, Garhwal ke Loknritya geet
2- Keshav Anuragi, Nad Nadani (Unpublished)
3- Dayashankar Bhatt  , Divya Sangit (Unpublished)
4- Glossary of Indian Classic Music
 XX
Music Notation, Sangit Lipi of Pandon Jagar a religious Folk Song played in Garhwali Folk DramaMusic Notation, Sangit Lipi of Pandon Jagar a religious Folk Song played in Garhwali Folk Drama from Pauri Garhwal, North India;Music Notation, Sangit Lipi of Pandon Jagar a religious Folk Song played in Garhwali Folk Drama from Chamoli Garhwal, North India; Music Notation, Sangit Lipi of Pandon Jagar a religious Folk Song played in Garhwali Folk Drama from Rudraprayag Garhwal, North India; Music Notation, Sangit Lipi of Pandon Jagar a religious Folk Song played in Garhwali Folk Drama from Tehri Garhwal, North India; Music Notation, Sangit Lipi of Pandon Jagar a religious Folk Song played in Garhwali Folk Drama from Uttarkashi  Garhwal, North India; Music Notation, Sangit Lipi of Pandon Jagar a religious Folk Song played in Garhwali Folk Drama from Dehradun Garhwal, North India;Music Notation, Sangit Lipi of Pandon Jagar a religious Folk Song played in Garhwali Folk Drama from Haridwar, North India;