उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Monday, July 20, 2015

तिला धारा बोला -! गढ़वाली प्रेम लोकनृत्य गीत

Duda -Garhwali Love Folk Song from  Garhwal Uttarkhand
 
               तिला धारा बोला !
(एक दुड़ा  गढ़वाली प्रेम लोकनृत्य गीत )

        इंटरनेट प्रस्तुति -भीष्म कुकरेती


         तिला धारा बोला -!
         गौरा दे भली बांद दे ,
         तिला धारा बोला झम। 
         झंगोरा को दाऊँ -गौरा दे झंगवरा को दाऊँ
         सड़को की घसेरी , क्या छ नाम तेरो झम।
         बिराळा  का भाऊँ   -गौरा दे , बिराल़ा   का भाऊँ   -गौरा
        बाटा का बटोई बटोई 
        गौरा मेरा नाउ झम।
          तिला धारा बोला  झम।
         पाथी छौं -लंगड़ा-गौरा दे , पाथी छौं -लंगड़ा-गौरा दे
        घास काटण छोड़ , गौरा दे
      औ मेरा दगड़ झम ।
      जोगी सी कांडा को मैन्दरु
       कै गौं को छे बटोई . खांकल्य़ा राडो  को झम।
      बूती  जालो सूंट़ा  -गौरा दे बूती  जालो सूंट़ा  -गौरा दे
       देश पोडि जौंला ला गौरा दे 
      बैलूं जसी जुंटा  झम।
    नाउँ धारे शोभा गौरा दे -नाउँ धारे शोभा गौरा दे
    पिंगळी मुखडी गौरा दे , लाल बिंदी शोभा झम।
  झंगोरा की बोट मैन्दरु , झंगोरा की बोट मैन्दरु ,
 बल बिराज देंद मैन्दरु तेरो शिकारी कोट -झम।
 अगेलि को रुआँ गौरा दे , अगेलि को रुआँ गौरा दे
   खचरु मध्ये उड़े गौरा दे , सिगरेट को धुंआ झम।
 … 
 तुमड़ी को घ्यू छ मैन्दरु ,तुमड़ी को घ्यू छ मैन्दरु
कांडाखाल बटी मैन्दरु , त्वै मा मेरु ज्यू झम।
   बाखरा की ल्वेई गौरा दे ,बाखरा की ल्वेई गौरा दे
राम न जम्पे सीता गौरा दे , मी जम्पदु त्वेई -झम ।
घुगति को मैण -गौरा दे ,घुगति को मैण -गौरा दे
कै भागी ह्वेली गौरा दे , मुखडी को मोल -झम।
चिलमी को पीच मैन्दरु चिलमी को पीच
रुपया देण कु मैन्दरु , तेरो सगोर नी च -झम
बखरो बुडियों छ -गौरा दे बखरो बुडियों छ
तेरा दीनू देखि गौरा दे , सरील उड़ियों छ -झम।
ढकरी पालाण -गौरा दे , ढकरी पालाण -गौरा दे
छोड़ गंगा पार गौरा दे , आउ मेरा सलाण -झम

---------------------------------
संदर्भ , शिवा नन्द नौटियाल , गढ़वाली लोकगीत , श्याम बुक डिपो , देहरादून

गढ़वाल से गढ़वाली प्रेम लोक गीत ; पौड़ी गढ़वाल से गढ़वाली प्रेम लोक गीत ;चमोली गढ़वाल से गढ़वाली प्रेम लोक गीत ;रुद्रप्रयाग गढ़वाल से गढ़वाली प्रेम लोक गीत ;टिहरी गढ़वाल से प्रेम गढ़वाली लोक गीत ;उत्तरकाशीगढ़वाल से गढ़वाली प्रेम लोक गीत ; देहरादून गढ़वाल से गढ़वाली प्रेम लोक गीत ; Garhwali Love Folk Song from Pauri Garhwal Uttarkhand , Uttarakhand;Garhwali Love Folk Song from Chamoli Garhwal, Uttarakhand; Garhwali Love Folk Song from Rudrapryag Garhwal, Uttarakhand;Garhwali Love Folk Song from Tehri Garhwal, Uttarakhand;Garhwali Love Folk Song from Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand;Garhwali Love Folk Song from Dehradun Garhwal, Uttarakhand;