उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Thursday, June 8, 2017

Sociopolitical Poems by Dr Kaleshwari

......उण्पचासौं बुलेटिन....
-
Sociopolitical Satirical, Current Event depicting  Poetries by Satish Kaleshwari 
=
-
सुण्दा रावा खास खबरौं, सिलसिला अबि जारी चा...
// सन् अस्सी बटि बिछुड़ीं,
अंग्रेजी अर देसी भुलि।
कंपोजिट लाइसंस,
पैरै ग्या नै झगुलि।
झाँझियुँ थैं सुहाणि खूब, नीति आबकारी चा।
सुण्दा रावा...
// बद्रीनाथ रस्ता मा,
रैड़ि गैनी फिर पहाड़।
सीजन मा कमै कू,
कन भलु ह्वे जुगाड़।
करमचारियुं बाँछि खिलिनी, खुस हूणु ब्योपारी चा।
सुण्दा रावा...
// ना'पाक' चौकी उड़ाऽण,
बाईस सेकंड खेल बणि।
वीडियो फुटेज यांकि,
किलै बणि होलि कुझणि।
अपड़ि फौजौ पराक्रम, दिखाणु प्रचारी चा।
सुण्दा रावा...
// शेयर, बैंक, बीमा बचत,
खोलिगी मंहगै कु रस्ता।
घुवाड़ौं दौड़, कैसिनौ अर,
बड़ा-बड़ा होटल सस्ता।
वैलकम, जी एस टी यो, कदम कर सुधारी चा।
सुण्दा रावा...
// आई सी जे न् पाक की,
उम्मीदुं थैं भेळु ध्वाल।
एक रुपया पिठै मा,
साल्वे न करी कमाल।
जाऽधव बाटु जग्वळणि, देसै जनता सारी चा।
सुण्दा रावा खास खबरौं, सिलसिला अबि जारी चा...
=
=
पचासौं बुलेटिन
-
-
सुण्दा रावा खास खबरौं, सिलसिला अबि जारी चा…
// बीफ पार्टी का बहाना,
मुक्क जहर नि कोचा तुम।
सर्वधरम समभा$व,
मिटाणै नि सोचा तुम।
धरत्या पल छाळ तलक, बुन्याद हमारी चा।
सुण्दा रावा...
// जेवर की सड़क्युं फुंड,
यूप्या गुंडों कु उत्पात।
कतल, रेप, लुछा-लुछि,
योगी खुणि अंध्यरी रात।
सपा-बसपा राज जनि, मैली चित्रकारी चा।
सुण्दा रावा...
// घ्याळ, गौळि बुखैकी,
बाच ल्हीगी चोरिकी।
फुक्यां झ्वंपड़ा शाकिबपुर,
रूणान भकोरि की।
सेना बणै, क्रोध घृणा, हतासा, लाचारी चा ।
सुण्दा रावा...
// तीन बरस राज कनौ,
किलै दीणा छौ हिसाब।
सरकार उत्सव मनावा,
बोला जै जै मोदी साब।
वैतरणि पार कनौ, नौं ही असरदारी चा।
सुण्दा रावा...
// भ्रष्टाचारै पैली सीढ़ी,
अत्याचारै एजेन्सी।
हजार पटवर्युं निकलीं,
उत्तराखंड मा भेकेन्सी।
हर कामा खुण पैंसौं हडगि, यूँ कुकरौं प्यारी चा।
सुण्दा रावा खास खबरौं, सिलसिला अबि जारी चा...
★★★★★
डॉ.सतीश कालेश्वरी।
1.6.2017
-
-
Sociopolitical Satirical, Current Event depicting, Garhwali Poems, Folk Songs , verses from Garhwal, Uttarakhand; Sociopolitical Satirical, Current Event depicting,Garhwali Poems, Folk Songs , verses from Pauri Garhwal, UttarakhandSociopolitical Satirical, Current Event depicting,Garhwali Poems, Folk Songs , verses from Chamoli Garhwal, UttarakhandGarhwali Poems, Sociopolitical Satirical, Current Event depicting,Folk Songs , verses from Rudraprayag Garhwal, UttarakhandGarhwali Poems, Folk Songs , verses from Tehri Garhwal, UttarakhandSociopolitical Satirical, Current Event depicting,Garhwali Poems, Folk Songs , verses from Uttarkashi Garhwal, UttarakhandGarhwali Poems, Folk Songs , verses from Dehradun Garhwal, UttarakhandGarhwali Poems, Folk Songs , Sociopolitical Satirical, Current Event depicting,verses from Haridwar Garhwal, Uttarakhand; Himalayan Poetries, North Indian Poetries , Indian Poems, SAARC countries poems, Asian Poems , Sociopolitical Satirical, Current Event depicting,
 गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ; पौड़ी  गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ; चमोली  गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ; रुद्रप्रयाग  गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ;  टिहरी गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ; उत्तरकाशी गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ; देहरादून   गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ;  हरिद्वार गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ; Ghazals from Garhwal, Ghazals from Uttarakhand; Ghazals from Himalaya; Ghazals from North India; Ghazals from South Asia, Couplets in Garhwali, Couplets in Himalayan languages , Couplets from north India