उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Thursday, June 8, 2017

सोल्यूशन

सोल्यूशन - Garhwali Satire 
-
व्यंग्य -सुनील थपल्याल घंजीर 

     -

  भौत बरसु मा गौं मा छौं अयूं !
  
  जख ह्वाला ,जनै ह्वाला गौंकरा ? तैल्या मैल्या ख्वाल माख्यूं कु भिमड़ांट,मनिख्यूं की गंद ना बास !

   तबरि दलेदर दा दिखे ग्या अपंणि चिरपरिचित छवि मा ... बलदु फर हा हा ,दो दो , बो बो  हंकरदा !
 बल्दू की गौलिंद पुरंणि घांडीयूं की सुरीलि ध्वनि टंणमण टंणमण , अहा !
अर ठेठ गंवड़्या छाप दलेदर दा कु वी उत्साह , वी बीड़ि फर सोड़ मनो यूनिक इसटैल ।
आज बि वे का कांधम् हैल देखी जिकुड़ी कु उमाल नि थम्याई !

 दादा खूब छौ ? मिन कालू चश्मा अपंणा खरमुंड फर अटकै क् दादा पूछी !

/  आं भै आं ... जु ह्वेला तब ? दलेदर दा अपंणि पुश्तैनी दलेदरी फर उतरि ग्या ( दादल पैछांण कनम कमचूसी कैर द्या )

/ दादा मि गुंदकी छौं ! तैल्या ख्वाल ! पटवरि जी कु नाती ।

/  ओ हो ! कन आँखि फुटीं मेरी ... हब्बै  ! गंज्यलि बौ कु अधमंजरु नौनु छै तु ! 

/ हां हां ... दादा एकदम करैक्ट ! 

  / कनु भै ? कनु रै ? 
 जनै जनै डबका लगेंणि ह्वेली अचकल्यूं ? द्वारि मोरि त् तुमरी सर्या सरग सोरि ग्या । 
क्य मनिख ,क्य गोर , क्य गूंणि क्य बाग सब्बु खुणि खुल्यां छन तुमरी कूड़ी का फाटक ।  भितरखंड भैरखंड एक बरौबर हुयां छन तुमरा ... अब त् असमान ही छत च् तुमरी । 
कूड़ी ,सगोड़ी ,पाती फर तुमरा अवारा बुझ्यों की नजर लगीं च् ,खूप निजरकु कै मौल्यां छन कब्जा जमै क् । बाग त् होटल बंणै क् बैठ्यूं च् वख ठाठ से ! डैर लगद उनै तुमर ख्वाल जनै... 
भुल्ला अपंणि कूड़ी जनै न जै हो ! 

/ पर भैजी मीथै खुद लगीं च अपंणि फटलीयूं की ! 

/ खुद थै खड्या दे वखि अपंणा पचास गजा पिलाटा कै कूंणा मा ! ई सोल्यूशन च् भुला अब त् ।

.
Copyright @ सुनील थपल्याल घंजीर

Best  Harmless Garhwali Literature Humor , Jokes  ;  Garhwali Literature Comedy Skits  , Jokes  ; Garhwali Literature  Satire , Jokes ;  Garhwali Wit Literature  ,  satirical essays , Jokes  ;  Garhwali Sarcasm Literature , Jokes  ;  Garhwali Skits Literature  , Jokes  ;  Garhwali Vyangya   , Jokes   ;  Garhwali Hasya , Jokes   ; गढ़वाली हास्य , व्यंग्य,  गढ़वाली जोक्स

Thanking You .