उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Sunday, August 16, 2015

शिवराज जी ! यदि दाऊद चुनौ जीति गे त उ अपराधी नी च क्या ?

  चबोड़ , चखन्यौ , चचराट   :::   भीष्म कुकरेती 


                        ब्याळि (16 /8 /2015 )  , मध्यप्रदेश मा भाजपा दस नगरपालिका मादे आठ नगरपालिकाओं चुनाव क्या जीति कि मध्य प्रदेशौ सुब्बा (सूबे का नेता ) शिवराज सिंह चौहान खुशि मा उतणु ह्वे ग्याइ  , घ्वाड़ा तरां घिलमुंडि खाण लग ग्याइ  अर खुशि मा अंट शंट बखण लग ग्याइ ।  सूबा  कु सूबेदार जीक बुलण च बल भाजपा द्वारा चुनौ जितण मतलब कॉंग्रेस तै व्यापम घोटाला कु जबाब। अंट संट बखण पागलपन  निशाणि बि माने जांद। 
             ये जी सुब्बेदार जी ! चौहान जी ! यदि चुनाव जितण , चुनावी जंग जितण , चुनावी युद्ध जितण गुनाह मुक्ति दवा च तो फिर भाजपा आज तक इंदिरा गांधी तै इमरजेंसी की गुनाहगार किलै माणदि ? बार बार आप लोग आज बि इंदिरा गांधी पर भगार किलै लगौंदा भै ?
                     ये जी जै राज्य मा व्यापम जन सालों साल तक चलण वळ बड़ो घोटाला हो वै राज्य का मुखिया जी ! आदर्श घोटाला  अभियोगी , महाराष्ट्र का भूतपूर्व मुख्यमंत्री अशोक चौहाण चुनाव जीति गे तो क्या अब अशोक चौहाण शहीदों की विधवावों का फ़्लैट छिनण वाळ अपराधी नी च ?
                     मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री जी ! आपक हिसाब से तो जु बि चुनाव जीत जांद वो अपराध मुक्त ह्वे जांद। तो फिर छगन भुजबल तो चुनाव जीत तो फिर वै का घर अर ऑफिसों पर छापामारी किलै भै शिवराज जी ? 
          चौहान जी ! भौत सा डॉन जेल भीतर बिटेन चुनौ जीत जांदन वांक मतलब यु समजे जावो कि यी धुर्या नि छन , गुनाहगार नि  छन , जघन्य अपराधी नि छन ? गुजरात का मंत्री  सोलंकी जी चुनौ जितणा इ रौंदन तो क्या यूँ पर भ्रस्टाचार का मुकदमा खारिज करे जावु ?
           चौहान जी चारा घोटाला का राजा लालू यादव तो कथगा इ चुनाव जीती गे तो क्या वैक गुनाह माफ़ कर दिए जावन।?
               यदि भोळ दुनिया  ठगुं का ठग दाऊद इब्राहिम या ठगराज ललित मोदी भारत आंदन अर जब तक यूँ पर अपराध सिद्ध हूंद वांसे पैल इ चुनाव जीत जावन तो यी अपराधी नि छन ?
             शिवराज जी ! भाजपा हजारों चुनाव बि जीत जावो तो भी आपका नेतृत्व मा व्यापम सरीखा घोटाला सालो तक हूणु राइ का गुनाह तो अवश्य रालो ।  चौहान जी ! आप सूबा का मुखिया छया तो घोटाला ह्वाई च अर आपक राज मा ह्वाइ तो यांक दाग , धब्बा , गुवांण , मुताण की गंध तो आप पर हजारों साल तक राली कि ना ? या चुनौ जितण से गुवांण , मुताण की गंध समाप्त ह्वे जाली ?    मनमोहन सिंह जी गुनहगार नि छया किन्तु ऊंक राज मा घोटाला ह्वेन यांक दाग धब्बा तो मनमोहन जी पर राला ही तो चौहान जी ! उनि  इतिहास आप का कलुषित नेतृत्व तै माफ़ नि कौर सकद।


17/8  /15 ,Copyright@ Bhishma Kukreti , Mumbai India 
*लेख की   घटनाएँ ,  स्थान व नाम काल्पनिक हैं । लेख में  कथाएँ चरित्र , स्थान केवल व्यंग्य रचने  हेतु उपयोग किये गए हैं।