उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Tuesday, August 11, 2015

उत्तराखंड के प्रत्येक विधायक को पर्यटन विपणन समझने विदेश यात्रा करनी ही चाहिए

Every Assembly Member  Should Visit Foreign Country for Tourism Understanding
                       उत्तराखंड के प्रत्येक विधायक को पर्यटन विपणन समझने  विदेश यात्रा करनी ही चाहिए 
                                    Practical Strategies of Tourism Development in Uttarakhand -2
                      उत्तराखंड में व्यवहारिक पर्यटन विकास की रणनीतियां -2

                        Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series-   105

                                                            
उत्तराखंड में पर्यटन  आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 105

                                               लेखक : भीष्म कुकरेती  (विपणन  विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ )
 भारत के विशेषतः टेलीविजन व उत्तराखंड की समस्त पत्रकारिता प्रजाति की पर्यटन विरोधी मानसिकता से मै कई बार खिन्न हो जाता हूँ। 
 एक बार उत्तराखंड पर्यटन विभाग ने देहरादून में इंटरनेसनल आइस स्केटिंग  आयोजन किया जो पर्यटन विकास  आवश्यक था।  युगवाणी  संपादक श्री सुधीर  कोठियाल ने सम्पादकीय में लिखा कि देहरादून में प्ले ग्राउंड नही है सरकार आइस स्केटिंग का आयोजन कर रही है।  मुंबई में मैंने श्री कोठियाल से बात की कि यदि पत्रकार को पर्यटन विपणन की समझ ना हो तो उसे इस तरह पर्यटन जैसे विषय पर नही लिखना चाहिए।  कोठियाल जी नाराज ही हुए होंगे। 
 एक बार पर्यटन विभाग द्वारा मसूरी में अपने एजेंटों को पंच सितारे बड़ी पार्टी दी तो  मेरे मित्र पूरण पंत पथिक ने अपने पत्र 'गढ़वाली धै ' में पर्यटन विभाग व सरकार की धुनाई की।  मैंने पथिक जी को फोन कर समझाया कि टूरिज्म एक ग्लैमरस व्यापार है और एजेंटों को बड़ी पार्टी देना मार्केटिंग  विशेष अंग है तो भी पंत जी नही समझ सके कि सरकार को ऐसे व्यर्थ  करने चाहिए।  
 जब विधायक या सांसद सरकारी खर्च पर विदेश भ्रमण  करते हैं तो टीवी पत्रकार इसी तरह टीवी चैनलों में ऐसे चिल्लाते हैं, न्यूक्लियर बम फोड़ते हैं जैसे विधायकों ने भारत को बेच ही  दिया हो । वास्तव में इन पत्रकारों को पर्यटन ब्यापार की कोई समझ है ही नही। 
         पर्यटन विकास में सबसे अधिक महत्वपूर्ण तथ्य होता है पर्यटन स्थल वासियों की पर्यटन मानसिकता। उत्तराखंड तीन हजार से भी अधिक सालों से एक प्रसिद्ध पर्यटक स्थल रहा है कंतु यह भी सत्य है कि आज भी उत्तराखंडियों में व्यापारिक , व्यवसायिक , बिजिनेस मानसिकता नही आ पाई है और तभी तो उत्तराखंड के पत्रकार भी उत्तराखंड के पर्यटन विभाग की कई व्यवसायिक रूप से सही कार्यवाहियों की भर्त्स्ना कर देते हैं।  पत्रकार हमारे समाज के सदस्य है  और वे समाज की मानसिकता की अभिव्यक्ति ही सामने लाते हैं। 
 मेरा मानना है कि यदि उत्तराखंड में पर्यटन विकास करना है तो पूरे समाज की पर्यटनमुखी मानसिकता होनी आवश्यक है।  इसके लिए शीर्षस्थ राजनीतिज्ञों , जिला स्तर के राजनीतिज्ञों से लेकर ग्राम प्रधान व ग्राम सभा पंचों की पर्यटन मानसिकता पनपनी आवश्यक है। 
        पर्यटन मानसिकता हेतु एक साधन विधयकों को दो तीन साल में विदेशों में पर्यटक स्थलों की अनिवार्य यात्रा आवश्यक होनी चाहिए। 
  मै अपने अनुभव से कह सकता हूँ कि जब भी मैंने विदेश यात्रा की तब तब मुझे पर्यटन विपणन की समझ बढ़ती गयी।  जब जब मै गोवा की यात्रा करता था तो मुझे पर्यटन व्यवसाय में उत्तराखंड का सुखद भविस्य दिखता था। 
           पर्यटन ब्यापार मानसिकता एक दिन में नही आ सकती है उसके लिए समाज को राजनीतिज्ञों पर दबाब बढ़ाकर विधायकों  , पंचायत अध्यक्षो के  जिला अध्यक्ष को विदेश यात्रा अनिवार्य करवानी चाहिए. जिससे ये शीर्षस्थ राजनीतिज्ञ पर्यटन व्यवसाय को समझ सकें और धीरे धीरे उत्तराखंड में पर्यटन व्यापार  मानसिकता आ सके।  

     


Copyright @ Bhishma Kukreti , 11 /8 /2015 
Marketing of Travel, Tourism and  Hospitality Industry Development  in Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Haridwar Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pauri Garhwal, Uttarakhand;Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Dehradun Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Tehri Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Chamoli Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Nainital Kumaon, Uttarakhand;Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Almora Kumaon, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Champawat Kumaon, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Bageshwar Kumaon, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand;