उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Sunday, August 16, 2015

श्री नरेंद्र नेगी जी के जन्मदिन पर समर्पित कविता

सबुं की अन्वार त्वे मां

By बलबीर राणा 'अडिग'

सबुं की अन्वार त्वे मां
सरु उत्तराखण्ड त्वे मा
सुखीयों कु सुख त्वे मां
दुखीयों कु दुख त्वे मां
डाडियों की रौनक त्वे मा
कांठीयों की चमक त्वे मां
पलायन की पीडा त्वे मां
बेरोजगार की संवेदना त्वे मां
गौं कु दर्द त्वे मां 
दाना सयोणु की लाचारी त्वे मा
ब्वे की ममता मां
पिता कु दुलार मां
ध्याणी की पीडा मां
भैजीयेां कु प्यार मां
ज्वान खुदेड ब्वारी माया मां
फौजी भुला की ज्वानी मा
मायादारों की माया मां
नयुं ब्यौ कु उलार मां
बुडिडयों की रस्यांण मां
जख देख तख तुम
उत्तराखण्डियों दिल मा तुम
मन मां तुम
हे गढ रत्न
जतगा बोला उतगा कम
अब शब्द नी बलबीर अडिग मा
इत्गा शाल बटि तेरी जगेयीं यु जोत
जै का उज्याला मां
उत्तराखण्ड की सस्कृति चमकणी चा
जुग - जुग जियां जुगराज रय्यां
आपक् भुला:- बलबीर राणा 'अडिग'