उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Wednesday, January 11, 2012

Different Dialects of Kumauni -1

Samples of Different Dialects of Kumauni Language an one of the oldest langauges of India . Part - 1
Presented by Bhishm Kukreti on Internet Medium
भाग-१ अ
हिंदी : वह कहाँ से आया
१- पिठौरागढ़-खास की बोली : उ काँ आछ ?
२- गंगोलीहाट की बोली: ऊ कैहैं आ ?
३- बेरी नाग की बोली : तौं कां बटी आ ?
४-अस्कोट की बोली: ऊ काँ बठे आँछ ?
५- थल की बोली : ऊ काँ बैठे आच्छ ?
६- लोहाघाट -चम्पावत की बोली : उकाँ बठे आछ ?
७- खासपर्जिया बोली: ऊ कां बै आछ ?
भाग-१ ब
हिंदी : तुम कंहाँ से आये हो ?
१- पिठौरागढ़-खास की बोली : तौं काँ बठे आछै
२- गंगोलीहाट की बोली: तुम कैहैं आछा ?
३- बेरीनाग की बोली : तिमी कैहैं आछा ?
४-अस्कोट की बोली: तुम काँ बठे आछा ?
५- थल की बोली : तुमि काँ बैठे आच्छा ?
६- लोहाघाट -चम्पावत की बोली : तुम काँ बठे आछा ?
७- खासपर्जिया बोली: तुम कौ बै आछा ?
भाग-१- स
हिंदी : मै शहर से आया हूं
१- पिठौरागढ़-खास की बोली : मैन बाजार बठे आयूँ
२- गंगोलीहाट की बोली: मूं सहर है आयूं
३- बेरीनाग की बोली : मुं शहर बटि आयूं
४-अस्कोट की बोली: मै बजार बठे आयूं
५- थल की बोली : मु शहर बै आयूँ
६- लोहाघाट -चम्पावत की बोली : मी शहर बठे आछूं
७- खासपर्जिया बोली: मै शहर है आयुं
Sources
१- पिठौरागढ़-खास की बोली श्री देव चन्द्र चौधरी, पवदेव, पिठौरागढ़
२- गंगोलीहाट की बोली: कु. मुन्नी पंत, पाळी, गंगोलीहाट
३-बेरीनाग की बोली: श्री नरेंद्र नाथ पंत , बेरीनाग , श्री जयदेव पंत , बेरीनाग
४-अस्कोट की बोली: दलजीत पाल, खोलीगौं , अस्कोट
५- थल की बोली: श्री गोपीचंद ठाकुर, बरड़ , थल
६- लोहाघाट -चम्पावत की बोली : श्री प्रताप सिंह अधिकारी, लोहाघाट
७- खासपर्जिया बोली: श्रीमती मुन्नी जोशी, मल्ला जोशीखोल़ा, अल्मोड़ा
Refrence: Dr. Bhavani Datt Upreti . 19976 Kumauni Bhasha Ka Addyayan , Smriti Prakashan, 124 Shahara Bag, Allahabad , UP
Published by Kumauni Samiti
3 B Katra , Allahabad
 
Samples of Different Dialects of Kumauni Language  to be continued ....
Copyright@ Dr Bhavani Datt Upreti