उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Sunday, January 8, 2012

प्रवासी सामाजिक कार्यकर्ताऊं कौकटेली दुःख

चबोड़ इ चबोड़ मा
      प्रवासी सामाजिक कार्यकर्ताऊं कौकटेली दुःख
                       भीष्म कुकरेती
     
 
                मी तैं जब गढवाळ को बारा मा खबर सार चयेणि ह्वाऊ त
मी अखब़ारूं अर टी.वी चैनेलूं पर भर्वस नि करदो अच्काल टी.वी. चैनेल सबसे
जादा अणभर्वसी ह्व़े गेन . टी.वी.चैनेल अर समाचार पत्र त भै क्या बुन तुम मा, तुमर
लंगसी फंगस्यूं सौं छन धौं ! अरे पैलो जमानो मा आकाशवाणी अर दूरदर्शानो बारा मा सोळ आनो भर्वसु छौ
बल य़ी द्वी माध्यम सरकारी मंत्र्युं क भोंपू छन . पण भै अच्काल त पता इ नि चलदो बल
टी.वी.चैनेल या समाचार पत्रुं की क्वा न्यूज पेडन्यूज च, क्वा न्यूज स्पोंसर्डन्यूज च अर क्वा न्यूज सेंसेसनलन्यूज या
तहलका मचौणो का बान सुद्दी की न्यूज च , क्वा न्यूज स्पेस भरणो च अर क्वा न्यूज कखिम सै च.
त                       इलै मुंबई मा बैठिक मी गढवाळऐ न्युजो बान अपण लोगूँ पर ही भर्वस करदू . मतबल
अपणा सामाजिक कार्यकर्ता . यि सौब न्यूज की खाण छन, माईन्स छन.
हाँ यि लोग न्यूज जब बेपियाँ होन्दन त न्यूज उथगा नि दीन्दन जथगा कोकटेल पार्टी मा
सच्ची खबर दीन्दन . बस कें बि संस्था क कार्यकारिणी क बैठक ह्वाओ त सबसे पैथर हाजरी
बुझाणो जान्दो मी , अर रघुकुल रीति सदा चलि आई क सास्वत बाट पर चलिक हमारा
सामाजिक सदस्य कै बियर- बार या कै दर्वड़ी क ड़्यार इ गढवाळ सम्बंधित असली डिस्कसन करणो
बान पीण बिसे जान्दन .
                   इनी सामाजिक कार्य कर्ताओं क कोकटेल पारटयूँ से मीतैं गढ़वालै असली खबर मिलदी जन कि
ब्याळी इ 'अखिल गढवाळ बिटेन पलायन बन्द कारो संस्था, मुंबई (रजिस्टर्ड ) की कोकटेल पार्टी
से पता चौल बल पलायन से गौं प्रवास्युं कूड उजड़ी गेन, गाँव का लोक प्रवास्युं उजड़याँ कुडो क
पठळ चोरी कौरिक ल्ही जान्दन. ब्याल़े कोकटेल पार्टी मा शामिल चार प्रवास्युं का इ क गां मा उजड़याँ कूड का बौळी, बळीन्ड, सिंगार
बि चोरी ह्व़े गेन अर चर्री प्रवास्युं (जौंक उजड़याँ कुडों पठळ ,बौळी , बळीन्ड, दार-सिंगार,चोरी हेवे ) न प्रूफ का साथ ( सब्युंन ग्विल्ल क सौं घटीं)
सूचना बि दे बल प्रवास्युं कूड उजड़णा छन पर सरकार कुच्छ नी करणी च. अर चूँकि सब्युनं सरकार तैं मा बैणी
क गाळी देन त साफ़ छौ की खबर सोळ आनो सै च , सत्य च निथर यूँन मुंबई मा -बैणी गाळी किलै दीण छौ.
                दारु क पार्टी चलणी इ छे की एकन सूचना दे बल 'अखिल गढवाळ बिटेन पलायन बन्द कारो संस्था, मुंबई (रजिस्टर्ड )'
क अध्यक्ष अर महा मंत्री न दस दिन पैलि देहरादून मा प्लाट खरीद . त सब्युं न दुयूं तैं बधाई दे. एक न त इथगा बडे कार,
इथगा बड़ाई कार की अध्यक्ष अर महामंत्री जीक पूठों पर नौ पूळ पराळ चलि गेन अर ऊन दुयूं न सूचना दे क्या पक्की
न्यूज दे बल गढवाळ मा बड़ो ख़राब रिवाज चळण बिसे गे , गढवाळ मा गलत प्रचलन शुरू ह्व़े गे . महामंत्री जीन सूचना दे
बल अब गाँव का स्कूल टीचर, पटवरि बि रिटायरमेंट का बाद देहरादून, ऋषिकेश, कोटद्वार मा बसण शुरू ह्व़े गेन .
अध्यक्ष जीन सूचना दे बल ईन कुनगस, गलत बात, उलटो रिवाज, पैल नी होंदा छौ . अब त गाँव इ खाली ह्व़े जाला .
सब्युंन अपण अपण क्षेत्र का कु टीचर , कु कु वी.एल.डब्ल्यू .कु कु पटवारी गाँव छोड़िक कोटद्वार या हैरी जगा बसी गेन.
की पक्की सूचना दे याँ ! इख तक तक पूरो ब्योरा दे की कैन कथगा मा जमीन खरीद.सब्युं न एकमत ह्वेका ब्वाल बल सरकार कुछ नी करणी च. सरकार साली बदमास हो गयी है .

सब्युं न सरकार अर नेतौं तैं गाळी बि देन बल सरकार गाँव क टीचरों , पटवारियों, वी.एल.डब्ल्यूओं तैं गाँव छुडण से नी रुक्णी च.
पैल माहौल गाळीयूँ से गरमाई त पैथर गरम माहौल गमगीनी मा बदली गे अर सब्बी करूण रस का तलौ
मा गुत्ती मारण लगी गेन बल इन त एक दिन गढ़वाळ मनुष्य विहीन ह्व़े जालो! उ त भलो ह्वेन एक सदस्य को जैन झांझ मा ऐक फिर
से सूचना दे कि 'अखिल गढवाळ बिटेन पलायन बन्द कारो संस्था, मुंबई (रजिस्टर्ड )' क ज्वाइंट सेक्रेटरी न कोटद्वार मा,
प्रचार प्रसार मंत्री न रिसिकेश मा अर कोषाध्यक्ष जीन श्यामपुर मा बण्यु-बणयूँ मकान खरीद याल. माहौल मा बधाई
क फ्वारा बगण बिसे गेन, बधाई क बंसुळी बजण बिसे गेन.
               पण चूंकि प्रवासी संस्था क कार्यकारणी सदस्यों क कोकटेल पार्टी छे त रघुकुल रीति क बाटू फिर से
रस्ता मा ऐ गे अर फिर से गढ़वाळ मा परेशानी क्य क्य छन पर गम्भीर चर्चा या सुचनाऊ आदान प्रदान शुरू ह्व़े गे
एक एक कौरिक सदस्यों न सूचना दे बल गौं मा जब तीन आदिम पलायन करदन त गौं मा सौ सुंगर पैदा
ह्व़े जान्दन . बस सुंगरूं बात आई कि सौब सरकार तैं अर नेताओं तै सुंगरौ गाळी दीण बिसे गेन.सब्युंन सूचना दे बल सरकार
कुछ नी करणी च.
कुछुंन सूचना दे बल गाँव मा गौं का इ लोक अपणा कुल देवता क मंदिरूं से घंडल चुर्याणा छन पण गौ बुरी चीज
जु सरकार कुछ करणी ह्वाऊ धौ.
अर अखिरैं जन सद्यनी होंद उनि ह्व़े . भौत सा सदस्यों न सूचना दे , पक्की न्यूज दे बल गढ़वाळ मा शराब को प्रचलन भौत बढ़ी गे अर
बार की लेडी कैशियर देखिक एक सदस्य तैं एक महत्व पूर्ण सूचना याद आई बल अब त गढवाळ मा जनानी बि शराब परोसणी लगी गेन
अर सरकार कुछ नी करणी च.जनि गढवाळ मा शराब कि छ्वीं शुरू होंद त समाजी ल़ीण चएंद बल अब दरवडयौं मा
क्वी सूचना नी बचीं च .
सी भोळ मीन 'अखिल भारतीय गढवाळ बिटेन गूणी-बांदर भगाओ, संस्था, मुंबई (रजिस्टर्ड )' क कार्यकारिणी क
बैठक मा जाण मी तैं पूरो भरवस च बैठक का बाद कोकटेल पार्टी मा गढवाळ मा कथगा गूणी-बांदर छन पर क्वी नई सूचना
जरुर मीली जाली
Copyright@ Bhishm Kukreti