उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Sunday, May 28, 2017

Himalayan Ghazals

Garhwali Ghazals by Payash Pokhra 
-
हम त सदनि आंख्यूं मा आंसु सि सरकणा रवां |
न बल तुम त आंख्यूं मा खैड़ सि करकणा रवां ||
वींकी देळिम बटैकि तिसळा हि बौड़िक ऐ ग्यवां |
जैं चोळि का बाना खरयां सरग सि बरखणा रवां ||
रुप्या कळदारु की माळा पैरिक आंखि अागास च |
हम त माटा मा खुट्यूं ताळ पैसा सि गिरकणा रवां ||
बनि-बनि उज्यळों का बीच अंध्यरु भि चमकद |
पोतळ्यूं का कौथिग मा जोगण सि छिरकणा रवां ||
कबि न कबि तुमरि खुट्टि भि कुरचळि त सै हमथैं |
इन जाणिक गंगल्वड़ा सि हरकणा फरकणा रवां ||
द्यख्दै-द्यख्दा बड़-बड़ा पोड़ भि जगा छोड़ि गैन |
तबि त हम भि जर-जरा कैकि उंदू रड़कणा रवां ||
"पयाश" दगड़ा का सबि बाँज-बुराँश भि फूलि गैन |
हम त खरड़ी मुण्डळि जना पाड़ सि दरकणा रवां ||
-
@पयाश पोखड़ा |

Garhwali Poems, Folk Songs , verses from Garhwal, Uttarakhand; Garhwali Poems, Folk Songs , verses from Pauri Garhwal, UttarakhandGarhwali Poems, Folk Songs , verses from Chamoli Garhwal, UttarakhandGarhwali Poems, Folk Songs , verses from Rudraprayag Garhwal, UttarakhandGarhwali Poems, Folk Songs , verses from Tehri Garhwal, UttarakhandGarhwali Poems, Folk Songs , verses from Uttarkashi Garhwal, UttarakhandGarhwali Poems, Folk Songs , verses from Dehradun Garhwal, UttarakhandGarhwali Poems, Folk Songs , verses from Haridwar Garhwal, Uttarakhand; Himalayan Poetries, North Indian Poetries , Indian Poems, SAARC countries poems, Asian Poems 
 गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ; पौड़ी  गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ; चमोली  गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ; रुद्रप्रयाग  गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ;  टिहरी गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ; उत्तरकाशी गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ; देहरादून   गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ;  हरिद्वार गढ़वाल , उत्तराखंड ,हिमालय से गढ़वाली कविताएं , गीत ; Ghazals from Garhwal, Ghazals from Uttarakhand; Ghazals from Himalaya; Ghazals from North India; Ghazals from South Asia