उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Sunday, May 28, 2017

मेरु गौं - ओम बधाणी - एक मार्मिक सच्चाई

उत्तराखण्ड के उजड़ते मकानों और खाली होते गावों की एक सच्ची और मार्मिक तस्वीर, मन को अंदर तक झकजोरने वाली गीत रचना के साथ ।

विकास की अन्धी दौड़ में अपनी जड़ों को परदेश में खोज रहे भाइयों बहनों आओ लौट कर अपने गांव, जहां तुम्हारी असली जड़ है, जो अपनी जड़ों से जुड़ा रहा विकास उसी का हुआ है । शांति और सुखमय जीवन उसी को मिला है, आओ लौट आओ ।