उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Monday, April 14, 2014

ब्वेक गर्भवती हूणो क्वी खबर नी च अर भाइक नामकरणों दिन निश्चित ह्वे गे !

हंसोड्या , चुनगेर ,चबोड़्या -चखन्यौर्या-भीष्म कुकरेती        

(s =आधी अ  = अ , क , का , की ,  आदि )     
घरवळि -तुमर दगड़ त दसियों दैं ट्रेन मा 'वेटिंग' लिस्ट कु प्रतीक्षा टेंसन झ्याल । 
मि - हैं ! आज ट्रेन मा 'वेटिंग'  याद ?
घरवळि -तुमर दगड़ बस की लाइन मा घंटो बस की 'वेट' कार अर बस की 'वेट' करदा करदा खुट उसे जांद छा ।
मि -हाँ पर तब बस कु अलावा ट्रांसपोर्ट छैं इ छौ। 
घरवळि -तुमर कारण राशन  की दुकान मा घंटो राशन की 'वेट' को असह्य पीड़ा झेल । 
मि - ह्याँ पण तब अनाज की भयंकर कमी छे।
घरवळि -पर जब 'वेटिंग' कु सुख लीणो  समय आइ त तुम सियां छंवां। 
मि -'वेटिंग' कु सुख त केवल बल प्रेमी -प्रेमिकाओं तैं आंद।
घरवळि -म्यार इ जोग गोरकट्वा जोग  छन कि अब जब अच्छु समय आइ बि च त तुम 'वेटिंग' का वास्ता कुछ नि करणा छंवां। 
मि - ह्यां ह्वाइ क्या च ?
घरवळि -इन पूछो कि क्या क्या नो ह्वाइ ?
मि -अच्छा बोल त सै क्या क्या ह्वाइ ?
घरवळि -सि द्याखदि मिसेज जेपी नड्डा कथगा पुळेणि च ! 
मि - कनो मिसेज नड्डा यीं उमर मा नानी बणि गे कि दादी बणि गे ?
घरवळि -तुमन क्या समजण कि मिसेज जेपी नड्डा 'वेटिंग' कु क्या मजा लीणि च। 
मि -कनो मिसेज नड्डा कु  ईं उमर मा कुछ ?
घरवळि -उंह ! मिस्टर जेपी नड्डा नरेंद्र मोदीक कैबिनेट 'इन वेटिंग ' मा केंद्रीय सरकार का टेलीकॉम मिनिस्टर 'इन वेटिंग ' बौणि गेन। अर मिसेज नड्डा  मिसेज मिनिस्टर 'इन वेटिंग' कु झर फर सब्युं तैं दिखाणी च।  मि तैं बि पुछणि छे ," मिसेज कुकरेती ! मि मिसेज टेलीकॉम मिनिस्टर 'इन वेटिंग' कन लगणु छौं ?"
मि - मिस्टर जेपी  नड्डा अब टेलीकॉम मिनिस्टर 'इन वेटिंग' ह्वे गेन  ?
घरवळि -हाँ आर आज मिसेज गडकरी मिसेज अर्बन डेवलपमेंट मिनिस्टर 'इन वेटिंग' हूणो ख़ुशी मा पार्टी दीणी च। 
मि -क्या ?मिसेज गडकरी मिसेज अर्बन डेवलपमेंट मिनिस्टर 'इन वेटिंग' हूणो ख़ुशी मा पार्टी दीणी च?
घरवळि -यी ना, मिसेज रविशंकर प्रसादन पावर कॉरिडोर मा मिसेज लॉ मिनिस्टर 'इन वेटिंग' बणणो खुसी मा एक कल्चरल प्रोग्राम बि उर्यायुं च। 
मि - मिनिस्टर 'इन वेटिंग' बणणो खुसी मा ?
घरवळि -हाँ ! अर मिसेज अरुण जेटलीन त मिसेज फाइनेंस  मिनिस्टर ''इन वेटिंग'' की खुसी  मा पिकनिक पार्टी का इन्विटेशन कार्ड बि छपवाइ ऐन। 
मि -यी क्या बरड़ाणि छे तू ? मिनिस्टर इन वेटिंग ? 
घरवळि -बस मिस्टर सुषमा सवराज नाराज छन कि मिसेज सुषमा सवराज तैं मिनिस्टर 'इन वेटिंग' ना लोकसभा स्पीकर 'इन वटिंग' बनाणा छन। 
मि - जरा ठीक से खुलासा कौर कि 'इन वेटिंग' कु झमेला क्या च ?
घरवळि -ह्याँ , ब्याळि 6/4/2014 कुण  ! भाजपा का बड़ा बड़ा नेताओं की एक सीरिअस मीटिंग ह्वे अर हरेक तैं चुनाव हूण से पैलि मिनिस्टर ''इन वेटिंग'' का पद बांटे गेन।  अर यांक खुसी मा हरेक 'मिनिस्टर ''इन वेटिंग'' का रिस्तेदार उल्हास मा , खुसी मा, प्रसन्नता मा पार्टी दीणा छन।     
मि -हैं ! चुनाव शुरू नि ह्वेन , रिजल्ट अबि नि ऐन अर भाजपा वाळुन कैबिनेट मिनिस्ट्री बणै बि आल ?
घरवळि -हाँ ! अर बैक डुअर पावर कॉरिडोर मा आज मिसेज अमित शाहन पीएमओ मा मिसेज मिनिस्टर ऑफ स्टेट बणणो खुसी मा डांडिया डांस कु कार्यक्रम धर्युं च।  मि बि उखी जाणु छौं। 
मि - क्या ?
घरवळि -हाँ ! कास तुम बि मिनिस्टर 'इन वेटिंग ' बणी जांदा तो मि बि पंडो डांस कु कार्यकर्म उर्यांदु।  पण तुम त  …… ?
मि -हा हा ! ब्वेक गर्भवती हूणो क्वी खबर नी  च अर भाइक नामकरणों दिन निश्चित ह्वे गे हैं ?


Copyright@  Bhishma Kukreti  8 /4/2014 

*कथा , स्थान व नाम काल्पनिक हैं।  
[गढ़वाली हास्य -व्यंग्य, सौज सौज मा मजाक  से, हौंस,चबोड़,चखन्यौ, सौज सौज मा गंभीर चर्चा ,छ्वीं;- जसपुर निवासी  द्वारा  जाती असहिष्णुता सम्बंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य; ढांगू वालेद्वारा   पृथक वादी  मानसिकता सम्बन्धी गढ़वाली हास्य व्यंग्य;गंगासलाण  वाले द्वारा   भ्रष्टाचार, अनाचार, अत्याचार पर गढ़वाली हास्य व्यंग्य; लैंसडाउन तहसील वाले द्वारा   धर्म सम्बन्धी गढ़वाली हास्य व्यंग्य;पौड़ी गढ़वाल वाले द्वारा  वर्ग संघर्ष सम्बंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य; उत्तराखंडी  द्वारा  पर्यावरण संबंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य;मध्य हिमालयी लेखक द्वारा  विकास संबंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य;उत्तरभारतीय लेखक द्वारा  पलायन सम्बंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य; मुंबई प्रवासी लेखक द्वारा  सांस्कृतिक विषयों पर गढ़वाली हास्य व्यंग्य; महाराष्ट्रीय प्रवासी लेखकद्वारा  सरकारी प्रशासन संबंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य; भारतीय लेखक द्वारा  राजनीति विषयक गढ़वाली हास्य व्यंग्य; सांस्कृतिक मुल्य ह्रास पर व्यंग्य , गरीबी समस्या पर व्यंग्य, आम आदमी की परेशानी विषय के व्यंग्य, जातीय  भेदभाव विषयक गढ़वाली हास्य व्यंग्य; एशियाई लेखक द्वारा सामाजिक  बिडम्बनाओं, पर्यावरण विषयों   पर  गढ़वाली हास्य व्यंग्य, राजनीति में परिवार वाद -वंशवाद   पर गढ़वाली हास्य व्यंग्य; ग्रामीण सिंचाई   विषयक  गढ़वाली हास्य व्यंग्य, विज्ञान की अवहेलना संबंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य  ; ढोंगी धर्म निरपरेक्ष राजनेताओं पर आक्षेप , व्यंग्य , अन्धविश्वास  पर चोट करते गढ़वाली हास्य व्यंग्य, राजनेताओं द्वारा अभद्र गाली पर हास्य -व्यंग्य    श्रृंखला जारी  ]