उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Thursday, January 2, 2014

विश्व के पर्यटन स्थलों का वोध (समझ )

Understanding Features of Worldwide Destinations
(Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--28) 
                                          उत्तराखंड में पर्यटन  आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग28   
                                                       लेखक : भीष्म कुकरेती                              
                                          (
विपणन  विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ )

                      आज पर्यटन एक प्रतियोगी उद्यम हो चुका है।  ऋषिकेश में सड़क पर चना बेचने वाले को भी अंतर्राष्ट्रीय  पर्यटन का कुछ न कुछ ज्ञान होना वषयक हो गया है। चना बेचने वाले को ह ज्ञान होना आवश्यक हो गया है कि प्रवासी गुजराती पर्यटक किस मौसम में ऋषिकेश आते हैं और उनकी क्या आकांक्षाएं हैं। मसूरी के पर्यटन व्यापारी  को भी अंतराष्ट्रीय पर्यटन का बोध होना लाजमी है। 

                          भू , जल और नभ मंडल

किसी भी पर्यटन व्यापारी को खुरदरे तौर पर जानकारी होनी चाहिए -
१- भूमण्डल में जल और भूमि है 
२-उत्तरी भू मंडल में जमीन अधिक है 
३- दक्षिण भूमण्डल में जल हे जल है। 
४- बादलों के कारण मौसम परिवर्तनीय  है.
५- एसिया में हिमालय पहाड़ है। 
६-यूरोप में आल्पस पहाड़ियां हैं। 
७-उत्तरी अमेरिका में पथरीले पहाड़ हैं। 
८- दक्षिण अमेरिका में एंडीज पर्वत श्रृंखलाएं हैं। 
९-ऑस्ट्रेलिया उपमहाद्वीप में बर्फ भरी पहाड़ियां हैं 
१०-अफ्रीका में अटलस पर्वत श्रृंखलाएं है। 
११- अंटार्टिक महासगरों में बर्फ होती है 
१२- अंधमहासागर लम्बा व गहरा है। 
१३- उत्तरी प्रशांत महासागर और दक्षिण प्रशांत महासागर की अपनी विशेषताएं है। 
१४-हिन्द महासागर की अपनी विशेषताएं है 


               सागर और पर्यटन
समुद्र ने पर्यटन उद्यम को हमेशा ही सहायता दी है। निम्न कुछ समुद्री स्थल पर्यटन में प्रसिद्ध हैं -
१- इन्ग्लिश चॅनेल - सबसे व्यस्त समुद्री मार्ग है और फेरी रूट के लिए जगप्रसिद्ध है। 
२- उत्तरी समुद्र -फेरी और झाजी बेड़ा मार्ग के लिए प्रसिद्ध है। 
३-भूमध्य सागर - बीच , रिजॉर्ट्स ,क्रूज , फेरी मार्ग के लिए प्रसिद्ध है। 
४-एड्रियाटिक सागर - बीच -रिजॉर्ट्स, क्रूज , फेरी मार्ग हेतु एक जाना -पहचाना नाम है 
 ५- लाल सागर बीच रिजॉर्ट्स, डाइविंग , क्रूज , जहाजी बढ़ाओं के मार्ग के लिए प्रसिद्ध है। 
६-बाल्टिक सागर ,इ फेरी रूट , क्रूज और झाजी मार्ग से पर्यटन विकास हुआ। 
७-काला सागर भी बाल्टिक सागर जैसा ही पर्यटक क्षेत्र है। 
८-आइरिश सागर फेरी रूट्स व शिपिंग मार्ग के कारण प्रिसद्ध क्षेत्र है। 
९- कैरिबियन सागर बीच रिजॉर्ट्स , डाइविंग , क्रूज के लिए एक जाना माना नाम है। 
८- हिन्द महासगर क्रूज , समुद्री मार्ग व प्रशांत सागर को अटलांटिक महा सागर को जोड़ने के लिए प्रिसद्ध है।
           
                नभ  या एयर पर्यटन
निम्न एयरपोर्टों में यात्रियों का आगमन जनवरी -सितंबर 2013 में इस प्रकार था 
एअरपोर्ट -----------------------------कुल यात्री आगमन करोड़ संख्या में 
अटलांटा, अमेरिका  -------------------- 7. 11 
बेजिंग , चीन ---------------------------6 . 31 
हीथ्रो , लंदन ----------------------------5. 48 
टोकियो , जापान ----------------------5. 10
लॉस ऐंजेल्स , अमेरिका ------------5. 03 
ओ' हारे , अमेरिका ------------------5. 01 
दुबई , UAE ------------------------4.93 
पेरिस चार्ल्स , फ़्रांस -----------------4.72 
डालास फोर्ट अमेरिका ,------------4.56
हांगकांग ----------------------------4.45 


 अगले भाग में पढ़िए - जलवायु , समय privrtan  व कृत्रिम या मनुष्य निर्मित पर्यटक क्षेत्र 



Copyright @ Bhishma Kukreti 31 /12/2013 
Contact ID bckukreti@gmail.com 
Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...
उत्तराखंड में पर्यटन  आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी 

                                   
 References

1 -
भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना ,शैलवाणी (150  अंकों में ) कोटद्वार गढ़वाल 



Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Dhangu Patti, Garhwal, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Gangasalan Garhwal, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Lansdowne Tehsil Garhwal, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Pauri Garhwal, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Chamoli Garhwal, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Tehri Garhwal, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Haridwar Garhwal, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Dehradun Garhwal, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Nainital Kumaon, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Almora Kumaon, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Champawat Kumaon, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Bageshwar Kumaon, Uttarakhand; Understanding Features of Worldwide Destinations in context Tourism development in Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand;