उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Thursday, January 30, 2014

बागेश्वर -जागेशवर व देव प्रयाग के धार्मिक प्रसिद्धि ह्रास व उत्तराखंड पर्यटन विकास में सेवा व कार्य विधि अनुसरण का महत्व

Importance of Customer Care and Working Procedures in Uttarakhand Tourism Development  
                                      (Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--41)

                                                           उत्तराखंड में पर्यटन  आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग41   
                                                           लेखक : भीष्म कुकरेती  (विपणन  विक्री प्रबंधनविशेषज्ञ )   


                            उत्तराखण्ड पर्यटन से जुड़े व्यक्तियों ,  समाज , संस्थाओं व अन्य भागीदारों के  अतिरिक्त समस्त समाज को  बात गाँठ में बाँध लेनी चाहिए कि सभी के सभी को पर्यटकों को कोई वस्तु या सेवा देनी होती है।  पर्यटन उद्यम सेवा उद्यम है।  पर्यटन से जुड़े सभी व्यक्तियों को ग्राहक सेवा देना  मुख्य कार्य से जुड़ा है।  याने ग्राहक सेवा ही पर्यटन व्यापार है। पर्यटन क्षेत्र के व्यापारिक व अन्य गैर व्यापारी संस्थाओं का एक ही ध्येय होना चाहिए कि वे अपने ग्राहकों को उनकी आवश्यकतानुसार व चाहतानुसार सेवा प्रदान करें।  ग्राहक की देखरेख व सुरक्षा ही पर्यटन उद्योग है।  ग्राहकों की सेवा ही ग्राहकों को दुबारा पर्यटन क्षेत्र में लाता है  और पर्यटन सेवा ही  स्थल की छवि वर्धन कर प्रसिद्धि दिलाती है।  यदि ग्राहक पर्यटक स्थल की सेवा से संतुष्ट है तो वः पर्यटक अन्य पर्यटकों को उस पर्यटक स्थल की तरफदारी करता है और यह संतुष्ट ग्राहक पर्यटक स्थल का प्रचार माध्यम बन जाता है। 

                        ग्राहक सेवा नीति निर्माण व ग्राहक सेवा नीतियों का निर्वाह 

                             पर्यटन से जुड़े प्रत्येक संस्थान , व्यक्ति को ग्राहक सेवा नीति निर्माण कर उनका गम्भीरता  निर्वाह करना आवश्यक है।

                                           ग्राहक सेवा के उद्येस्य 
 १-ग्राहक सेवा से ग्राहक संख्या में वृद्धि होती है 
२- ग्राहक सेवा  से  लाभ प्रतिशत में वृद्धि होती है 
३-ग्राहक सेवा पर्यटक को पुन: यात्रा के लिए उकसाती है 
४- ग्राहक सेवा प्रतियोगिता में  स्थान दिलाती है 
 ५-ग्राहक सेवा वास्तव में  संस्थान या पर्यटक स्थल की छवि , प्रसिद्धि , कीर्ति वर्धन का मुख्य कारक है 
 ६-ग्राहक सेवा नीति प्रतियोगी कर्मिक बुलाने में सक्षम होती है।  ग्राहक सेवा से कर्मिकों को भी संतुष्टि मिलती है। 
७- ग्राहक सेवा व्यापार का राजदूत साबित होती है।

                         बागेश्वर , देव प्रयाग जैसे पर्यटक स्थलों के प्रसिद्धि में गिरावट का मुख्य कारण ग्राहक  सेवा 

नवी सदी से पहले बागेश्वर -जागेश्वर  की भारतीय धार्मिक स्थलों में गणना होती थी  और बद्रीनाथ आदि स्थलों को जाने  लिए बागेशर क्षेत्र मार्ग की अपनी प्रसिद्धि थी धीरे धीरे बागेश्वर ने पानी प्रसिद्धि खो दी।  आज बागेश्वर भारतीय धार्मिक पर्यटन में एक गौण पर्यटक क्षेत्र है।  बागेश्वर की कीर्ति ह्रास के पीछे एक मुख्य कारण ग्राहकों की चाहतानुसार  व आवश्यकतानुसार सेवा में ह्रास होना है। 
इसी तरह जब से बस सेवा ऋषिकेश से सीधे बद्रीनाथ तक विस्तृत हुयी तो  देव प्रयाग का महत्व पर्यटन दृष्टि से कम हो गया ।   याने यहाँ भी ग्राहक की  चाहतानुसार व आवश्यकतानुसार ग्राहक सेवा में ह्रास ने देव प्रयाग के महत्व को कम कर दिया  . 


Copyright @ Bhishma Kukret29  /1/2014 

Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...
उत्तराखंड में पर्यटन  आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी 

                                   
 References

1 -
भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना शैलवाणी (150  अंकों मेंकोटद्वार गढ़वाल 


Importance of Customer Care and Working Procedures in Uttarakhand Tourism Development; Importance of Customer Care and Working Procedures in Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand Tourism Development; Importance of Customer Care and Working Procedures in Nainital Kumaon, Uttarakhand Tourism Development; Importance of Customer Care and Working Procedures in Almora Kumaon, Uttarakhand Tourism Development; Importance of Customer Care and Working Procedures in Champawat Kumaon, Uttarakhand Tourism Development; Importance of Customer Care and Working Procedures in Bageshwar Kumaon, Uttarakhand Tourism Development; Importance of Customer Care and Working Procedures in Gangasalan, Uttarakhand Tourism Development; Importance of Customer Care and Working Procedures in Haridwar Garhwal, Uttarakhand Tourism Development; Importance of Customer Care and Working Procedures in Dehradun Garhwal, Uttarakhand Tourism Development; Importance of Customer Care and Working Procedures in Pauri Garhwal, Uttarakhand Tourism Development; Importance of Customer Care and Working Procedures in Chamoli Garhwal, Uttarakhand Tourism Development;  Importance of Customer Care and Working Procedures in Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand Tourism Development;  Importance of Customer Care and Working Procedures in Tehri Garhwal, Uttarakhand Tourism Development;