उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Sunday, July 22, 2012

गढवळि साहित्य खबर /समाचार (२२/७/२०१२ )


Garhwali Literature News
                          खबर्या - भीष्म कुकरेती
१- तोताराम ढौंडियाळौ गीत खौळ (संग्रह ) - धाद प्रकाशन बिटेन गढवळि क सयाणा कवि क किताब 'गढवळि गीत संग्र' अबि छपी क बजार मा आई. यीं पोथि मा लोक गीत अर ढौंडियाळौ रच्याँ गीत संकलित छन .
२- गढ़वाली भाषा प्रशिक्षण कार्यशाला - ११० साल पुराणि संस्था अखिल भारतीय गढवाली सभा , देहरादून न ३ जून २०१२ अर २० जूनो खुण गढ़वाली भाषा प्रशिक्षण कार्यशाला उरये गे. इख्मा लोगूँ तै गढवळी भाषौ ज्ञान दिए गे.
3-रंत रैबार , गढवाली साप्ताहिक देहरादून ४/६/२०१२
अ- इश्वरी प्रसाद उनियालाऊ नरेंद्र सिंग नेगी क गीतुं समीक्षा लेखमाला
ब- दया नन्द बहुगुणा, प्रेम बल्लभ पुरोहित , डा सुरेन्द्र सेमलटि , काली प्रसाद घिल्डियाल कि कविता
स- प्रकाश धस्माना अर नरेंद्र कठैत कु व्यंग्य ख़ास छन
४- खबर सार , गढवाली पाक्षिक , पौड़ी (१५/५/२०१२ --३०/५/२०१२)
अ- विमल नेगी ट्रांसफर नीति , विमल नेगी क कुमाउनी कवि भग्यान कवि शेर दा दगड मुखाभेंट
ब- भीष्म कुकरेती क व्यंग्य, नरेंद्र कठैत अर त्रिभुवन उनियाल को व्यंग्य .
स- शेर दा अर गोविन्द सिंग रावत की कुमाउनी कविता
द- चिन्मय सायर कि गढवाली कविता
इ- वीरेन्द्र पंवार कि 'भीष्म कुकरेती क व्यंग्य संग्रह 'कब्लाट ' की समीक्षा
फ- संदीप रावत का खबर अर विचार
ज- सुशील पोखरियाल का क्रोस वर्ड
झ- भीष्म कुकरेती क 'आवा गढवाली सीखा' लेखमाला
५- खबर सार (१/६/२०१२
अ- विमल नेगी क 'शिक्षा माफिया सम्बन्धी लेख, शाति प्रकाश जिज्ञासु क 'खैर लिंग' समन्धि लेख,
ब- भीष्म कुकरेती क 'आवा गढवाली सीखा' लेखमाला
स- नरेंद्र कठैत कु लेख ' क्वी औडी कीटी पूछ ...' लेख वीरेंद्र पंवार अर भीष्म कुकरेती पर साहित्यिक भगार (लांछन )
द- नरेंद्र कठैत अर त्रिभुवन उनियाल को व्यंग्य
इ- सुशील पोखरियाल का क्रोस वर्ड
फ- बी.मोहन नेगी को बाबा नागार्जुन कविता क अनुवाद कविता पोस्टर मा
ज- डा.आशा रावत कि कथा
झ- हरीश जुयाल कि कविता
ट- संदीप रावत कु लेख -गढवाली गद्य परम्परा
ठ- संदीप रावत की नरेंद्र सिंग नेगी क 'जै भोले भंडारी' कैसेट कि समीक्षा
6-गढ़वाली जागर, देहरादून (१४ जून - ३० जून २०१२ ) पाक्षिक मा यीं दै
अ- डा.अचला नन्द जखमोला क हिंदी लेख 'गढ़वाली भाषा में ध्वनिगत अर रूपगत वैभिन्य ' लेख लिखवारूं कुण काफी कामौ च
ब- अबोध बंधु बहुगुणा कि कथा 'डैकण ', व्यंग्य ( कठैत ) छप्यां छन
3- शैलवाणी कोटद्वार (१/७/२०१२) भग्यान कन्हयालाल को गढवाली शब्द कोष अर भीष्म कुकरेती क 'कथा संसारो कथा' लेखमाला प्रकाशित छन