उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Tuesday, July 17, 2012

राजनीति मा हंसाण वळा वीर --गढवाली -हास्य व्यंग्य साहित्य

गढवाली -हास्य व्यंग्य साहित्य
 
                      राजनीति मा हंसाण वळा वीर
                                       चबोड्या - भीष्म कुकरेती
(राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; गढवाली राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; कुमाउनी राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; उत्तराखंडी राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; मध्य हिमालयी राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; हिमालयी राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; उत्तर भारतीय राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; भारतीय राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; एशियाई राजनैतिक हास्य-व्यंग्य लेख्मला ]
अच्काल मि जख बि जांदु लोकार बुल्दन भै भीषम जी जरा हंसै देन. अब बतावदि टी .वी. चैनलुं मा इथगा हंसण वळ प्रोग्राम छन पण हौंसौ मांग पूरी नि होंदी. हूण बि कन कैक च महगाई जन , भ्रष्टाचार जन अंस्दारी गैस जब भारत मा फैलीं राल्या त लोगूँ तै हरदम हंसणो ग्वाळा चयांदी छन.
-- अब परसि उखम एकन पूछि दे बल अच्काल राजनीति मा सबसे जादा हंसाण वाळ कु कु छन, कु कु छया ?
--अब जन कि बात गंभीर छे त जबाब दीणि पोड़ .
--पंवार जी बि खूब हंसांदन .
--कनो ?
--ए भै कृषि मंत्री ह्वेक बुल्दन बल सरकार मंहगाई ख़तम करणो कुछ नि करणि च . अब जब मंत्री इ ब्वालल बल सरकार कुछ नि करणि च त मुर्दों तै बि हौंस आलि कि ना.
--जी बात त सै च भै
- जी इन लगद लाल कृष्ण अडवाणी जी बि हंसौण वाळ भड़ छन
-- क्या बुना छंवां गुरु गंभीर लाल कृष्ण अडवाणी जी अर कौमेडियन ?
-- कौमेडी करण मा ले क्या च? अब द्याखो ना अडवाणी जी छै साल तलक लौह पुरुष का भेष मा भारत का गृह मंत्री रैन तब त मा बैणि तलाक जु अडवाणि जी तै उन्ना देसुं मा (विदेस) काळो धन कि जरा एक डै बि याद आई होलि धौं अर अच्काल ऊं पर रबत लग्युं च बल भारत कु काळो धन उन्ना देसुं मा च . अब इन मा कै बि गरीब क्या मातबर रून्दा तै .हौंस आई जालि कि ना?
---हाँ ! हाँ! हौंस त आई जालि. हाँ अडवानी जी बि राजनीति का भला कौमेडियन छन .
-- भारतीय जनता पार्टी बुल्दी बल उत्तर प्रदेश मा उंकी मुख्य विरोधी पार्टी समाजवादी पार्टी च .
---- हाँ ! इखमा कै तै गलत फहमी नी च बल उत्तर प्रदेश मा भारतीय जनता पार्टी कि मुख्य विरोधी पार्टी समाजवादी पार्टी च.
---हाँ ! पण जब डिम्पल यादव निर्विरोध लोक सभा मा पौंछि ग्याई त इन लगद कि भारतीय जनता पार्टी जोकरूं पार्टी च अर लोगुं तै हंसाण मा सबसे अग्वाडि च
--चौधरी चरण सिंग जी जब ज़िंदा छा अर उत्तर प्रदेश क मुख्य मंत्री छा त छकैक हंसांदा छया हिंदी फिल्मो कोमेदियाँ महमूद जी बि चरण सिंग जी से जळदो छा .
-- हैं ! क्या बुन्ना छंवां ? चौधरी जी त गुरु गम्भीर मनिख छया . हौंस त oonk न्याड़ ध्वार बि नि आँदी छे.
-- हाँ इनी लगद छौ पण..
---पण क्या ?
--- चौधरी जी न फरमान निकाळ बल उत्तर प्रदेश बिटेन अंगरेजी अर अंग्रेजियत तै गबये जाओ, अंगरेजी अर अंग्रेजियत को jad नाश करे जाओ .
--त ये भै चरण सिंग जी पवित्र भारतीय छया
-- हाँ चरण सिंग जी न इना उत्तर प्रदेश की स्कूलों-कौलेजों मा अंग्रेजी पढ़ण- पढ़ाण बन्द कराई अर उना दुसर दिन अपण नौनु तै अमेरिका भेजी द्याई
-- औ तबि त मि बोलूं! कि अजय सिंग तै इथगा फुकानी अंगरेजी कनै आँदी
--हाँ अर इनी मुलायम सिंग जी बि गुरु क पद चिन्हों पर चलिन. उत्तर प्रदेश मा अंगरेजी क विरोध कार अर उख अपण नौनौं तै डिल्ली मा अंग्रेजी स्कूल -कौलेजूं मा भर्ती करे द्याई
-औ !
--- मुलायम सिंग जी त भौत दै हंसांदा छया.
--अच्छा ?
--हाँ ! अंग्रेजी भजाणौ बान मुलायम सिंग जीन उत्तरप्रदेश मा तमिल, तेलगु , कन्नड़ अर मलियालम सिखाणौ संस्थान खोलिन
-- पण या त बडी बढिया बात च बल उत्तर भारतीय द्रविड़ भाषा सीखन . इखमा हंसणौ बात क्या च ?
-- हंसणो बात या च कि उत्तर प्रदेश कि अपणि भाषाओं जन कि गढ़वळि , कुमाउनी या ब्रज की छ्वीं बात मुलायम सिंग जी न कबि नि कार
-- हाँ हाँ या त हंसणा बात च .
-- अब इनी एक हंसोड्या कलाकार छन अपण डा. रमेश पोखरियाल 'निशंक' जी
-- तन ना बोल भै ! निशंक जीक सौब किताब त गंभीर अर उपदेश सिखाण वळि छन
-- न्है न्है, निशंक जी बड़ा कौमेडियन छन भै आर मुलायम सिंग जीक खास च्याला छन !
-- मि तै त विश्वास नि आन्द . कख मुलायम सिंग जी कख निशंक जी. दुयूंक मेल होई नि सकुद
--द ब्वालो ! मुलायम सिंग जी न उत्तर प्रदेश की अपणी बोलि -गढव ळी - कुमाउनी, ब्रज जन भाषा बिसरिक द्रविड़ भाषाओं विकासौ बान सरकारी कोष खाली कार . त इख उत्तराखंड मा निशंक जी न गढवळि अर कुमाउनी भाषाओं तै तिरैक संस्कृत तै राज भाषा घोषित करी.
-- हो , हो, हां, हा इन हौंस त मै तै पड़ोसन फिलम देखिक बि नि आई जन हौंस मुलायम सिंग जी अर निशंक जीक स्वांग अर करतब सूणिक आणि च. हु -हु हा- हा --कौमेडियनो फौज .. .हा हू हा हू
- हाँ अर इखि ना अमेरिका मा बि भौत सा हंसाण वळ स्टेन्डिंग पौलिटिकल कौमेडियन छन
-- जन कि ?
-- जन कि क्या ! अपण ओबामा जी बि बड़ा पौलिटिकल कौमेडियन छन
--नै नै अमेरिका क राष्ट्रपति अर कौमेडियन ?
-- ए भै जु अपुण देसौ आर्थिक स्तिथि ठीक करणौ बान भारत पर भगार लगाओ कि भारत मा उन्ना देसी ( विदेशी ) निवेश नि हूणु च वै से बड़ो अंतररास्ट्रीय कौमेडियन ku ह्वालो ?
--- हू ! हू ! हां ! हां ! बस भै अब बन्द कारो पोलिटिकल कौमेडियनो छ्वीं . जख सनी, छन्नी , गौशाला को हरेक कूण्याम , हरेक आळम स्याळ बैठया ह्वावन वीं सनी क चिनखौं क्या हाल होला ?
Copyright@ Bhishma Kukreti, 18/7/2012
राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; गढवाली राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; कुमाउनी राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; उत्तराखंडी राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; मध्य हिमालयी राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; हिमालयी राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; उत्तर भारतीय राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; भारतीय राजनैतिक हास्य-व्यंग्य; एशियाई राजनैतिक हास्य-व्यंग्य लेख्मला जारी ....