उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Thursday, July 12, 2012

कतगा महान छौ रे भज्ञान, गुजडू को थानी

कवि- डॉ नरेन्द्र गौनियाल

कतगा महान छौ रे भग्यान,गुजडू को थानी.
नारंगी कि दाणि मिठी भग्यान,नारंगी कि दाणी.
कतगा महान छौ रे भग्यान,गुजडू को थानी.
खैंडी जालि खाई गैरी भग्यान,खैंडी जाली खाई.
आजादी का बान त्वेन भग्यान,कनि लड़ी लडाई.
कतगा महान छौ रे भग्यान,गुजडू को थानी.
खाई जालो केला देसि भग्यान,खाई जालो केला.
कतगा बार गैन जेल भग्यान,गांधीजी कु चेला.
कतगा महान छौ रे भग्यान,गुजडू को थानी.
चदरी कि खाप चौड़ी भग्यान,चदरी कि खाप.
यूजर्स कि गाड़ी चलि भज्ञान ,तेरा ही प्रताप.
कतगा महान छौ रे भग्यान,गुजडू को थानी.
खाई जालो पान देसि भग्यान,खाई जालो पान.
इस्कूल बणेन त्वेन भग्यान,मुल्क का बान.
कतगा महान छौ रे भग्यान,गुजडू को थानी.
       डॉ नरेन्द्र गौनियाल  सर्वाधिकार सुरक्षित.(डूंगरी गांव,पट्टी गुजडू,पौड़ी गढ़वाल के प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी स्व०थान सिंह नेताजी कि याद मा )