उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Monday, October 6, 2014

दे बाबा ! एक हौर कार का वास्ता दे दे बाबा !

रूपांतर ---भीष्म कुकरेती 
भिखारी - अरे वाह साब ! आप बैंक से भैर आणा छंवां।  एक  हथ मा ब्रीफकेस  अर हैंक हथ पर कैश अर बाळ बिहीन मुंड याने आप बड़ा सेठ छन !
सेठ - हाँ तो ?
भिखारी - साब में शसरिका गरीबै  कुछ सहायता कारो !
सेठ - ओहो हां दींद छौं।
सेठ अपण ब्रीफकेस अर कैश भिकारी हथ मा दींद
सेठ अपण किसौंद हथ डाळद।
सेठ सौअक नोट भैर गाडद
सेठ - वाह ले भै तू बि खुश ह्वे जा !
भिखारी -इथगा कैश ?
सेठ - हूँ ! केवल सौ रुपया म्यार ब्रीफकेस अर कैश वापस दे।
भिखारी -ल्या
सेठ कैश अर ब्रीफकेस वापस लींद . सेठ सौ रुपया भिकारी तैं दींद।
सेठ - अरे तू तो कबि मेरी फैक्ट्री मा मुलाजिम छौ ना सैत जखमोला या मंजखोला ?
भिखारी -जी मि मंजखोला छौं। बॉस क्या हाल छन ?
सेठ - अरे करोड़ो  मा खिलणु छौं। त्यार क्या हाल छन ?
भिखारी -ठीक नि छन सि भीक मंगण पड़नी च। अच्छा मीन एक आविष्कार कर छौ उ आविष्कार कन काम करणु च ?
सेठ - अरे उ रॉबट तो बहुत बढ़िया काम करणु च। पता च कि वै आविष्कार से मीन करोड़ो रुपया कमैन।
भिखारी -आप तैं मी तैं बर्खास्त नि करण चयेणु छौ।
सेठ - किलै नि बर्खास्त करण छौ।  वै रोबोट का बाद मि तैं आदिम्युं आवश्यकता ही नि छे।
भिखारी -त आप तैं मि तैं कुछ त दीण छौ।
सेठ - अरे सौ रुपया त दे च कि ना अर उनि बि ग्लोबलाइजेसन का बगत हरेक संघर्ष करणु च।  मी बि।
भिखारी -पर अबि त तुमन ब्वाल कि तुम करोड़ो मा खिलणु छौं।
सेठ - हाँ ! किन्तु मीम केवल एक रॉल्स रॉयस  बड़ी तकलीफ च।पता च त्वे तैं धनी संसार -समाज माँ केवल एक सिंगल रॉल्स रॉयस का हूंद बड़ी बेज्जती हूंद।
भिखारी -हाँ हाँ ! मि समज सकुद छौं कि धनी संसार मा कथगा केवल एक सिंगल रॉल्स रॉयस से काम चलाण कथगा बेज्जती को समय होलु।
सेठ - बड़ो संघर्ष करण पोड़णु च। अच्छा त्यार परिवार का क्या हाल छन ?
भिखारी -रुटि पाणि चलणु च।  नौकरी छुड़णो बाद मेरी वाइफक वेट चालीस किलो कम ह्वे गे।
सेठ - अर मेरी वाइफक वेट हर साल बीस किलो बढ़णु च।  करोड़ों रुप्या त हेल्थकेयर मा ही फुके जांदन अर इनि करोड़ो रुप्या मेकअप मा जळ जांदन।  धनी संसार मा रिच मैन्स वर्ल्ड मा संघर्ष ही संघर्ष च बस !
भिखारी -हाँ या बात त सै च।  मि तैं लगणु च ये सौ रुप्या की जरूरत आप तैं अधिक च।
सेठ - हाँ सच्ची बुलणी छे तू।  ब्याळि ही नंग काटण वाळन प्रति नंग सौ रुप्या बढ़ै ऐन अर नाइन दाढ़ी काटणो रेट तीन सौ रुप्या ज्यादा कर आलिन।
भिखारी -ल्या यि अपण सौ रुप्या वापस ले ल्यावो।  मि तैं लगणु च ये सौ रुपया की आवश्यकता आप तैं अधिक च।
सेठ (रुपया लींद ) - थैंक यू वेरी मच। मे  युवर हेल्थ बि ऑल राइट !
भिखारी -थैंक्स ! फॉर गुड विशेज