उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Tuesday, October 21, 2014

इबोला दगड़ छ्वीं बथ

A  Talk with   Ebola Virus 
                                         छुंयाळ ----भीष्म कुकरेती 

मि -हेलो ! हेलो ! 
इबोला -हेलो ! हेलो ! मि इबोला बुलणु छौं।
मि -ये कन म्वार त्यार ! सि अफ्रिका मा क्या निहूणि  मचायीं च रे तेरी ?
इबोला -बोल बोल ! मीम टैम नी च।
मि -जरा इन बतादी त्यार परिचय क्या च ?
इबोला -म्यार नाम इबोला हीमोरेजिक फीवर या इबोला बुखार च। मि एक वाइरस छौं।
मि -या बीमारी कै कै पर हूँदि ?
इबोला -मनिख अर कुछ हौर स्तनधारी जानवरूं पर जन कि गुरिल्ला आदि
मि -अच्छा ! एक बात बथादि कि तेरी पछ्याणक क्या च ?
इबोला -जब मि कै मनिखौ खून मा घुस जांद तो प्रवेश का द्वी दिन से तीन हफ्तौं बीच मा म्यार प्रभाव शुरू ह्वे जांदन। 
मि -जन कि ?
इबोला -पैल पैल बुखार आंद , गौळ पर खरखरी हूण बिस्याँद जन खासु मा हूंद , मांसपेस्युं मा डा -दर्द हूंद अर सरदर्द हूंद। 
मि -फिर ?
इबोला -फिर उंद -उब (दस्त  -उल्टी ) हूदन ; फोड़ा -फुंसी बि ह्वे सकदन , किडनी अर लीवर काम नि करदन ; भीतर अर भैर खून की उल्टी हूण लग जांदन ; कम ब्लड प्रेसर अर सरैल मा द्रव (फ्लूड ) की कमी से मनिख मोरी जांद।
मि -अर कतका दिन मा मनिख मोर सकद ?
इबोला -बीमारी का चिन्ह आणो छै से सोळा दिनूँ बीच मनिख मोर सकुद। 
मि -एक बात बतादि कि तू  सौरद (फैलना ) कनकै छे ?
इबोला -मि मनुष्यौ जनवरौ फ्ल्यूड याने थूक , खून , वीर्य , आंसू , पसीना , उल्टी या क्वी इन द्रव से जैपर मि लग्युं हूँ से सौरद , फैलदु।
मि -ओह !
अच्छा इन बतादी कि तू हवा माध्यम से बि सौरदि , फैल्दी ?
इबोला -ना मि हवा द्वारा ना लिक्विड याने द्रव से ही फैलदु।
मि -अच्छा इन बतादि कि त्यार प्राकृतिक हस्तांतरण स्रोत्र  (Natural Transmission Source ) क्वा च ?
इबोला -मि प्राकृतिक ढंग से फ्रूट बैट याने एक किस्मौ चमगाधड़ का शरीर मा रौंद अर फिर फ्लूड का जरिया जानवरूं अर मनुष्यों मा फैलदु।
मि -मतबल ?
इबोला -मतबल कि चमगाधड़ से कै स्तनधारी जानवर जन कि बखर -भेड़-गौड़ -भैंस आदि पर सौर , फ़ैल जांद।
मि -वो यदि इबोला प्रभावित जानवर का शिकार क्वी मनुष्य खाल तो वैपर बि इबोला सौर जांद , फ़ैल जांद ?
इबोला -हाँ।
मि -इबोला बीमारी क दवा क्या च ?
इबोला -अबि तलक क्वी कामयाब दवा त नि पैदा ह्वे किन्तु जनि मि कै पर सौरि , फैलि गे तो म्यार कुप्रभाव रोके जांदन अर मनुष्य की जिंदगी बचाये जांद।
मि -औ ! याने कि ते से बचण तो त्यार फैलणो माध्यम पर लगाम लगण चयेंद। मतबल एक सामजिक सहकारिता की आवश्यकता चयेंद ?
इबोला -हाँ , बीमार मनुष्य तैं अस्पताल मा अलग रखे जांद , वैक क्वी बि अंग , खून , द्रव तै दूसर मनुष्य या जानवर पर नि लगण चयेंद। मृत्यु प्राप्त मनुष्य तैं तजबिज से खड़्यांण चयांद या जलाण चयेंद कि बीमारी नि फ़ैल। 
मि -अर जानवरूं शिकार नि खाण चयेंद या चमगादड़ से दूर रौण चयेंद। 
इबोला -शाकाहारी भोजन ही फायदामन्द च।
मि -थैंक यु बि नि दे सकुद। 
इबोला -हाँ मी तैं रुकण तो समाज मा चेतना फैलाण आवश्यक च।



Copyright@  Bhishma Kukreti  18/10 /2014