उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Monday, May 26, 2014

मोदी सरकार मा उत्तराखंडौ प्रतिनिधित्व किलै नी च ?

हंसोड्या , चुनगेर ,चबोड़्या -चखन्यौर्या -भीष्म कुकरेती      

(s =आधी अ  = अ , क , का , की ,  आदि )
सबि  उत्तराखंडी हताश छन , निरास छन , निरुत्साहित छन , फ्रस्ट्रेटेड छन बल 2014 की मोदी सरकार मा एक बि मंत्री उत्तराखंड कु नी च , इख तलक कि बुलणो को सही डा मुरली मनोहर जोशी तैं बि जगा नि मील।  मीन अंथाज लगै कि नरेंद्र मोदी अर राजनाथ सिंघs मध्य उत्तराखंडौ बाबत क्या क्या बातचीत ह्वे ह्वेलि। 
नरेंद्र मोदी -राजनाथ जी त अब मंत्र्युं  सरा लिस्ट तयार ह्वे गे ?
राजनाथ  सिंघ -हाँ , परफेक्ट लिस्ट बणी गे। 
नरेंद्र मोदी -तो मिनिस्टरुं लिस्ट राष्ट्रपति कुण भिजे जावु ? 
राजनाथ  सिंघ -हे मेरि ब्वे ! कन भूल -बिसरन्त ह्वे ! यूं आठ दिनुं मा उत्तराखंड पर त डिसकसन ह्वे इ नी च.
नरेंद्र मोदी -जरा पर्चा द्याखदी कथगा लोकसभा सदस्य छन उत्तराखंड मा। 
राजनाथ  सिंघ - ऊं ऊँ ! उत्तराखंडौ पर्चा त मीम छैंइ नी च। 
नरेंद्र मोदी -म्यार लैपटॉप मा बि उत्तराखंड का लोकसभा सदस्यों लिस्ट नी मिलणी च।  छ्वटु राज्य की ये ही परेसानी हूंद। 
राजनाथ  सिंघ ( धै लगैक )-अरे क्वी उत्तराखंड लोकसभा सदस्यों लिस्ट तो लाओ !
एक आंद  -   याच उत्तराखंड मा जित्यां सदस्यों लिस्ट। 
नरेंद्र मोदी -सबि भाजपा  का ही सदस्य छन ना ?
राजनाथ  सिंघ -अरे यी सबि भाजपा का ही सदस्य छन ना ?
भैर बिटेन उत्तर - जी सबि भाजपा का ही छन। 
नरेंद्र मोदी -कथगा मेंबर छन ?
राजनाथ  सिंघ -पांच !
नरेंद्र मोदी -हैं ! उत्तराखंड से पांच लोकसभा सदस्य ?
राजनाथ  सिंघ -जी !
नरेंद्र मोदी - जी जरा यूँ सदस्यों जनम पत्री (रिपोर्ट कार्ड ) द्याखदी 
राजनाथ  सिंघ -टिहरी क्षेत्र से राज्य माला लक्ष्मी शाह।
नरेंद्र मोदी -पार्टी संगठन मा कन च ?
राजनाथ  सिंघ -असल मा माला लक्ष्मी टिहरी रियासत की राजघराना की बहु च तो इन संगठन जन मजदूरी काम नि करी सकदी। 
नरेंद्र मोदी -क्वी ऐडमिनिस्ट्रेसन कु अनुभव ?
राजनाथ  सिंघ -नै नै डेढ़ द्वी साल ह्वेन।  फिर श्रीमती शाह कु मायका नेपाल च।
नरेंद्र मोदी -नै नै जब हम सोनिया गांधी  का विरोध विदेशी मूल  वजै से करदां तो श्रीमती शाह तैं कैबिनेट मा जगा नि मील सकद।  अपड़ थुक्युं थूक किलै चटे जावु ? हैंक सदस्य क्वा च ?
राजनाथ  सिंघ - अल्मोड़ा सीट से अजय टमटा।    यूं तैं बि क्वी अनुभव नी च। यी शुड्यूल्ड कास्ट कैटेगरी का बि छन। 
नरेंद्र मोदी -शेडूल्ड कास्ट कैटेगरी मा त अबि उदित राज , रविदास अठावले जन कद्दावर नेताओं तैं हि अकोमोडेट नि कर सकणा छंवां हम।  अगला सदस्य क्वा च ?
राजनाथ  सिंघ -बीएस कोशियारी।  भूतपूर्व मुख्यमंत्री। अबि राजयसभा का सदस्य छन।
नरेंद्र मोदी -मुख्यमंत्री रैक यूंन कुछ कामौ काम बि कार ?
राजनाथ  सिंघ -ना जी।  यूंक  निकज्जोपन से तो जनता नराज ह्वे गे छे। 
नरेंद्र मोदी -राजयसभा मा क्या करदन ?
राजनाथ  सिंघ -कुछ ना , दिन काटणा रौंदन। 
नरेंद्र मोदी -नै मेरी कैबिनेट मा निकज्जा अर संसद मा दिन काटण वाळ लोग नि चयेंदन।  हैंक मेंबर ?
राजनाथ  सिंघ -डा रमेश निशंक।  यी राजनीति का घुट्यां , चलता पुर्जा , चतुर खिलाड़ी छन। 
नरेंद्र मोदी -कामगति बि छन कि ना ?
राजनाथ  सिंघ -हाँ कामगति त दिख्यांद त छन पर यूं पर द्वी बड़ा अभियोग लग्यां छन।
नरेंद्र मोदी -क्या क्या ?
राजनाथ  सिंघ -एक त जनता मा यूंक  छवि भ्रष्ट मंत्री अर  मुख्यमंत्री की च।
नरेंद्र मोदी -अर हैंक ?
राजनाथ  सिंघ -यूं पर अभियोग च कि यूंन विधान सभा चुनाव मा पार्टीका का दिग्गज जनरल बीसी खंडूड़ी तैं भीतरघात से हरवाइ। हाँ चतुर इथगा छन कि युंक अगेंस्ट मा प्रूफ कुछ नी च। 
नरेंद्र मोदी -नै नै ! यु बगत नी च कि दागी छवि वाळ तैं मंत्री बणये जावु। आखिर मि तैं इंटरनेसनल लीडर बणन भै । हैंक सदस्य ?
राजनाथ  सिंघ -रिटायर्ड मेजर जनरल बीसी खंडूड़ी !
नरेंद्र मोदी -ग्रेट ! युंक नाम तो ऐज ए परफेक्ट एक्जीक्यूटर (कार्य सम्पादन करण वाळ ) प्रसिद्द च। ईमानदार छवि बि च।   यूं तैं मंत्रीपद दिए जाण चयेंद। 
राजनाथ  सिंघ -पर नरेंद्र भाई! एक पेंच च 
नरेंद्र मोदी -क्या ?
राजनाथ  सिंघ -मेजर जनरल खंडूड़ी कु जनम 1934 कु च याने 75 से अळग की उमर ! 
नरेंद्र मोदी - ठीक च रण द्यावो।  उन बि हमन उत्तराखंड्यूं   तैं बौगाणो मंत्रीपद की खिल्वणी पकड़ाण छे।  अग्नै पकडै द्योला 
राजनाथ सिंघ -अर उन बि हम उत्तराखंड तैं चुनाव या आपदा का टैम पर याद करदवां ! 

Copyright@  Bhishma Kukreti  27/5/2014   
    

*कथा , स्थान व नाम काल्पनिक हैं।  
Garhwali Humor in Garhwali Language, Himalayan Satire in Garhwali Language , Uttarakhandi Wit in Garhwali Language , North Indian Spoof in Garhwali Language , Regional Language Lampoon in Garhwali Language , Ridicule in Garhwali Language  , Mockery in Garhwali Language, Send-up in Garhwali Language, Disdain in Garhwali Language,Hilarity in Garhwali Language, Cheerfulness in Garhwali Language
[गढ़वाली हास्य -व्यंग्य, सौज सौज मा मजाक  से, हौंस,चबोड़,चखन्यौ, सौज सौज मा गंभीर चर्चा ,छ्वीं;- जसपुर निवासी  द्वारा  जाती असहिष्णुता सम्बंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य; ढांगू वालेद्वारा   पृथक वादी  मानसिकता सम्बन्धी गढ़वाली हास्य व्यंग्य;गंगासलाण  वाले द्वारा   भ्रष्टाचार, अनाचार, अत्याचार पर गढ़वाली हास्य व्यंग्य; लैंसडाउन तहसील वाले द्वारा   धर्म सम्बन्धी गढ़वाली हास्य व्यंग्य;पौड़ी गढ़वाल वाले द्वारा  वर्ग संघर्ष सम्बंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य; उत्तराखंडी  द्वारा  पर्यावरण संबंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य;मध्य हिमालयी लेखक द्वारा  विकास संबंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य;उत्तरभारतीय लेखक द्वारा  पलायन सम्बंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य; मुंबई प्रवासी लेखक द्वारा  सांस्कृतिक विषयों पर गढ़वाली हास्य व्यंग्य; महाराष्ट्रीय प्रवासी लेखकद्वारा  सरकारी प्रशासन संबंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य; भारतीय लेखक द्वारा  राजनीति विषयक गढ़वाली हास्य व्यंग्य; सांस्कृतिक मुल्य ह्रास पर व्यंग्य , गरीबी समस्या पर व्यंग्य, आम आदमी की परेशानी विषय के व्यंग्य, जातीय  भेदभाव विषयक गढ़वाली हास्य व्यंग्य; एशियाई लेखक द्वारा सामाजिक  बिडम्बनाओं, पर्यावरण विषयों   पर  गढ़वाली हास्य व्यंग्य, राजनीति में परिवार वाद -वंशवाद   पर गढ़वाली हास्य व्यंग्य; ग्रामीण सिंचाई   विषयक  गढ़वाली हास्य व्यंग्य, विज्ञान की अवहेलना संबंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य  ; ढोंगी धर्म निरपरेक्ष राजनेताओं पर आक्षेप , व्यंग्य , अन्धविश्वास  पर चोट करते गढ़वाली हास्य व्यंग्य, राजनेताओं द्वारा अभद्र गाली पर हास्य -व्यंग्य    श्रृंखला जारी