उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Thursday, May 1, 2014

पाकिस्तान को मिर्ची लगी तो हम क्या करें ?

 हंसोड्या , चुनगेर ,चबोड़्या -चखन्यौर्या -भीष्म कुकरेती        

(s =आधी अ  = अ , क , का , की ,  आदि )
सन 2014 कु लोकसभा चुनाव एक अभिनव चुनाव च।  राष्ट्रीय अर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बरोबर दुफाड़ हुयुं च कि भाजपा कु नरेंद्र मोदी प्राइम मिनिस्टर हूण चयेंद या नरेंद्र मोदी प्रधान मंत्री नि हूण चयेंद।  बकै विषयुं  ये चुनाव मा क्वी माने ही नी च। 
 भारतीय गृह मंत्री सुशील शिंदेन बोलि कि दाउद  तैं कनै भारत लाण पर नरेंद्र मोदीन एक साक्षात्कार मा ब्वाल कि दाउद इब्राहिम तैं भारत लाणो वास्ता प्रेस कॉन्फ्रेंस थुडा करे जाली अपितु जन अमेरिकन चुपके से ओसामा बिन लादिन तै उठाइ ऊनि दाउद इब्राहिम तैं उठाये जालु। 
अर इन मा पाकिस्तान तैं मर्च लग गे अर पाकिस्तानी गृह मन्त्रीन बयान दे दे कि बतौर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी क्षेत्रीय शान्ति का वास्ता खतरनाक च। 
जब गृह मंत्री कै हैंक देसौ बारा मा इन बयान द्यावो तो समझी ल्यावो कि वै देस पर मिर्च जरा ज्यादा हि लग गे। 
पाकिस्तान तैं लाल मिर्च या काळी मिर्च  लगणी च। जब पाकिस्तान बुलंद कि जघन्य हत्यारा , ड्रग्स कु कसाई दाऊद पाकिस्तान मा नी च तो इन मा क्वी बोलि द्यावो कि हम दाऊद इब्राहिम तैं ऊनि उठैक लौला जन अमेरिकन बिन लादीन उठाई तो पाकिस्तानी हकूमत तैं मिर्च ही ना लौंग अर दाळ चिन्नी पत्ताक चिर चिरी बि लगल भै। 
फिर भारत मा चुनावुं बगत पाकिस्तानी सेना अध्यक्ष बोलि द्यावो कि कश्मीर पाकिस्तान की गळा की नस च तो समझो कि चोर की दाड़ी मा तिनका ना अपितु दाड़ी ही तिनकों की च। 
असल मा पाकिस्तानी गृह मंत्री अर सेनाध्यक्ष का बयान भारत से अधिक पाकिस्तानी समस्या तैं बयान करणी च आग या मर्च कखि हौर लगीं च अर पाकिस्तानी आवाम तैं बौगणा वास्ता यी बयान दियाणा छन। 
पाकिस्तानम जब बि सेना अर सरकारी राजनैतिक पार्टी बीच कुछ अनबन हूंद तो सेना या पॉलिटिकल जमात भारत पर कुछ ना कुछ अभियोग लगैक अपण अपण उल्लू सीधा करदन।  मोदी का बयान से पाकिस्तान पर मिर्च लग च कि ना पर यु त साबित ह्वे गे कि पाकिस्तानी सरकारी पॉलिटिकल पार्टी अर सेना का मध्य अनबन चलणि च। 
 पिछ्ला कई सालों से यी चलणु च कि यदि पाकिस्तानी आवाम भूख , तीस , बिजली हीनता , सड़क बिहीनता की बात करदि तो पाकिस्तानी पॉलिटिकल जमात भारत का विरुद्ध बयानुं ग्वाळा चुलाण मिसे जांद अर पाकिस्तानी आवाम बि यूं गुद्खोरुं  झांसा मा ऐ जांद अर भूखी -तीसा रैक खुस ह्वे जांद। 
पाकिस्तानी सेना तैं सरकारी राजनैतिक पार्टी से खुन्नस गाडण हो तो भारत -पाक बॉर्डर पर सीमा रेखा कु उल्लंघन शुरू ह्वे जांद अर जोरोंसे आतंकवादी क्रिया भारत मा शुरू ह्वे जांदन।   पाकिस्तानी सेना अर पॉलिटिकल जमात का वास्ता भारत एक बॉक्सिंग प्रैक्टिस बैग जन ह्वे गे। अर भारत की समस्या इन च कि भारत तै झक मारिक बॉक्सिंग प्रैक्टिस बैग बणन ही पोड़द। 
जन भारत मा सेक्युलिरिज्म एक हवा च ऊनि पाकिस्तान मा भारत एक हवा च अर उखाकि सेना व राजनैतिक पार्टी यीं हवा तैं तूफानी रंग दीणो बान उटपटांग, अमानवीय , गैर जरूरी हरकत करणा रौंदन। 
 भारत अर पाकिस्तान तैं एक गांधी की आवश्यकता च जु दुयुं मा सद्यनी कुण मेल मिलाप कौरी द्यावो। 


Copyright@  Bhishma Kukreti  2/5//2014