उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Sunday, June 5, 2016

रिटायरमेंट पर भौं भौं मजेदार , मजाकिया , परिहासात्मक दृष्टि - 2

Best  Harmless Garhwali Literature Humor , Jokes  ;  Garhwali Literature Comedy Skits  , Jokes  ; Garhwali Literature  Satire , Jokes ;  Garhwali Wit Literature  , Jokes  ;  Garhwali Sarcasm Literature , Jokes  ;  Garhwali Skits Literature  , Jokes  ;  Garhwali Vyangya   , Jokes   ;  Garhwali Hasya , Jokes   ; गढ़वाली हास्य , व्यंग्य,  गढ़वाली जोक्स



              रिटायरमेंट पर भौं भौं  मजेदार , मजाकिया , परिहासात्मक दृष्टि - 2
                                                    चबोड़ , चखन्यौ , संकलन  :::   भीष्म कुकरेती   
-
११- वधाई हो आप रिटायर ह्वे गयां , किन्तु आराम करणै आवश्यकता नी च जरा नाती नतिण्यूँ सेवा बि त करो।  अपण ब्वे बुबाओं को कर्ज तो उतारण च कि ना ? उंन अपण नाती-नतीण खिलैन तुम अपण नाती नतीण खिलावा। 
१२- तुमम दुनिया भर कि कतना बि डिग्री , सर्टिफिकेट ह्वावन किन्तु सेवनवृति का पैंथर तुम तै   MDN की डिग्री अवश्य मिलण - मास्टर ऑफ  डूइंग नथिंग।  वधाई ! 
१३- असल मा रिटायरमेंट एक रोजगार दाता द्वारा एक मिठासयुक्त बुलणो तरीका च -भय्ये अब तू बुड्या ह्वे गे अर हम तै तेरी आवश्यकता नी च। या इन बि बोली सकदां कि कम्पनी अपरोक्ष रूप से बुल्दी कि -हम तै तुमसे अधिक ऊर्जावान , तेज तर्रार मनिख मिल गेन भै। 
१४-असल मा रिटायरमेंट का बाद ऊँ चीजुं तै करणै चुनौती उथगा नि आदि जथगा ऊँ इच्छाओं तै याद करणों चुनौती ! चलो अपण स्मरणशक्ति बढ़ाओ। 
१५- सेवानवृति के आयु याने करियर /व्यवसाय कु एवरेस्ट की चोटी पर चढ़न , यांक बाद तो उतार ही उतार च , सबि अजित डोभाल थुका हूंदन। 
१६-इन बुल्दन बल अधिकतर सरकारी विभागों का लोग काम नि करदान बस काम करणो  दिखावा करदन  रिटायरमेंट का बाद अकर्मण्य तै छुपाणैं जरूरत नी च भै। 
१७- ता जिंदगी अब एक सदाबहार काम आप तै करण अर वु सदाबहार काम  च - कुछ नि करण। 
१८- नौकरी मा तुम अपण अनुचर , सहयोगी , बौस से बहस करदा छ्या अर अब पारिवारिक सदस्यों , नौकर , काम वळि बाई से बहस करिल्या।  स्थान बदल्दो  बस बहस करणो रोग नि बदल्दो। 
१९- सेवानिवृति परांत आप कथगा बि टिप टॉप रावो , काम करो लोगुंन तुमकुण रिटायर मैन इ बुलण - द्याख नि गाँव मा रिटायर्ड हवलदार जी कथगा बि भद्वाड़ बै ल्यावो , गाँव वाळ बुल्दा तो पेन्सनेर ही छन कि ना ?
२० -मि त जैदिन मि तै अपण चड्ढी बनियान बदलणै इच्छा नि हूंदी वैदिन अनुभव हूंद कि मि सेवानिवृत ह्वे ग्यों।   




6/6/2016 ,Copyright@ Bhishma Kukreti , Mumbai India 
*लेख की   घटनाएँ ,  स्थान व नाम काल्पनिक हैं । लेख में  कथाएँ चरित्र , स्थान केवल व्यंग्य रचने  हेतु उपयोग किये गए हैं।
 Best of Garhwali Humor Literature in Garhwal
i Language , Jokes  ; Best of Himalayan Satire in Garhwali Language Literature , Jokes  ; Best of  Uttarakhand Wit in Garhwali Language Literature , Jokes  ; Best of  North Indian Spoof in Garhwali Language Literature ; Best of  Regional Language Lampoon in Garhwali Language  Literature , Jokes  ; Best of  Ridicule in Garhwali Language Literature , Jokes  ; Best of  Mockery in Garhwali Language Literature  , Jokes    ; Best of  Send-up in Garhwali Language Literature  ; Best of  Disdain in Garhwali Language Literature  , Jokes  ; Best of  Hilarity in Garhwali Language Literature , Jokes  ; Best of  Cheerfulness in Garhwali Language  Literature   ;  Best of Garhwali Humor in Garhwali Language Literature  from Pauri Garhwal , Jokes  ; Best of Himalayan Satire Literature in Garhwali Language from Rudraprayag Garhwal  ; Best of Uttarakhand Wit in Garhwali Language from Chamoli Garhwal  ; Best of North Indian Spoof in Garhwali Language from Tehri Garhwal  ; Best of Regional Language Lampoon in Garhwali Language from Uttarkashi Garhwal  ; Best of Ridicule in Garhwali Language from Bhabhar Garhwal   ;  Best of Mockery  in Garhwali Language from Lansdowne Garhwal  ; Best of Hilarity in Garhwali Language from Kotdwara Garhwal   ; Best of Cheerfulness in Garhwali Language from Haridwar    ;
Garhwali Vyangya, Jokes  ; Garhwali Hasya , Jokes ;  Garhwali skits , Jokes  ; Garhwali short Skits, Jokes , Garhwali Comedy Skits , Jokes , Humorous Skits in Garhwali , Jokes, Wit Garhwali Skits , Jokes 
गढ़वाली हास्य , व्यंग्य ; गढ़वाली हास्य , व्यंग्य ; गढ़वाली  हास्य , व्यंग्य,  गढ़वाली जोक्स , उत्तराखंडी जोक्स , गढ़वाली हास्य मुहावरे