उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Tuesday, April 28, 2015

घ्याळ दाकी व्यापारौ बान बैंक लोन अर्जी

Best  Harmless Garhwali Literature Humor , Hemp Production   , Garhwali LiteratureComedy Skits, Hemp Production  , Garhwali Literature  Satire, Hemp Production  , Garhwali Wit Literature , Hemp Production Garhwali Sarcasm Literature  , Hemp Production, Garhwali Skits Literature , Hemp Production, Garhwali Vyangya  , Garhwali Hasya 

                              घ्याळ  दाकी व्यापारौ बान बैंक लोन अर्जी 

                        चबोड़्या स्किट संकलन :::   भीष्म कुकरेती 

[बैंक ऑफिस।   बैंक मैनेजर कैरा काका कुर्सी मा बैठ्युं च।  इथगा मा घ्याळ दा आंद। घ्याळ दाक कखर्यळ तौळ फ़ाइल छन।   ]
कैरा काका -घ्याळ दा ?
घ्याळ दा -जी धन्यवाद।  आखिर आपन मि तै मिलणै मजूरी दे इ दे। 
कैरा काका -नै नै यु त हमर कर्तव्य च। 
घ्याळ दा -हाँ पर तीन साल लग गेन आपम आणो कुण। 
कैरा काका -हाँ जरा लाल फीतसाही तो छैं इ च। 
घ्याळ दा -जरा ?
कैरा काका -अच्छा चलो ब्वालो केक अर्जी च?
घ्याळ दा -जी छुटु व्यापार याने लोवर इंटरप्रिनुअरशिप का तहत बैंक लोन चयेणु च। [एक फाइल दींदु ]
कैरा काका -भौत बढ़िया जब तक छुट छुट ब्यापार भारत मा नि खुलल भारत कु विकास असंभव च। 
घ्याळ दा -जी तबि त मि -
कैरा काका -अच्छा क्या पेल्या कॉफी या चाय ?
घ्याळ दा -चाय।  मिनरल वाटर मा अर कैफीन रहित चाय। 
कैरा काका [टेलीफोन से ]-एक घळतण्या चाय भितर भयाजो। अर  मेकुण कड़क चाय।  
घ्याळ दा -जी। 
कैरा काका -अच्छा इन बताओ कि आपन बिजिनेस क्यांक करणाइ ? अर ये प्रोडक्ट की डिमांड मतलब मांग कथगा च ?
घ्याळ दा -जी सात करोड़ भारतीय तो अबि बि ये पदार्थ का ग्राहक छन अर भविष्य बड़ो संभवना से भर्युं च अर -
कैरा काका -अर ?
घ्याळ दा -अर चूँकि पंजाब का उदाहरण से लगद कि राजनीतिज्ञ ये ब्यापार तै अग्वाड़ी बढ़ान चांदन तो  ये प्रोडक्ट व्यापार की अप्रतिम संभवना छन। 
कैरा काका -अच्छा ? कथगा पर्सेंट ग्रोथ की संभवना च ?
घ्याळ दा -पंजाब  का राजनीतिग्यों  अर प्रशासन का हाल चाल देखिक तो सौ प्रतिशत विकास की संभावना च । 
कैरा काका -वेरी गुड , ब्रैंड  कु नाम क्या च ?
घ्याळ दा -नाम तो नि धार पर प्रोडक्ट बिकण मा क्वी परेशानी नि होली। 
कैरा काका -औ -
घ्याळ दा -अर बाइ प्रोडक्ट की भी बड़ी मांग ह्वे सकद।  फिर -
कैरा काका -फिर क्या ?
घ्याळ दा -इखमा स्किल्ड लेबर की बि जरूरत नी च। 
कैरा काका -ह्यां पर प्रोडक्ट कु नाम क्या च ?
घ्याळ दा -चरस -गांजा ?
कैरा काका -क्या ?
घ्याळ दा -चरस गांजा। 
कैरा काका -मतलब अब बैंक चरस गांजा का व्यापार का वास्ता लोन दयालु ?
घ्याळ दा -हाँ।  
कैरा काका -तुम बैंक तै क्या समझदां ?
घ्याळ दा -बैंक तो बैंक ही च। 
कैरा काका [फ़ाइल देखिक ] -पर तुमन तो भांग की खेती करणो वास्ता लोन मांग ?
घ्याळ दा -हाँ।  भांग की खेती का वास्ता लोन चयेंद। 
कैरा काका -तुम सरकार तै क्या समजदवां ? क्या चरस गांजा का विकास का वास्ता सरकारी बैंक लोन द्याला ? चरस गांजा से युवा पीढ़ी खत्म हूणि  च अर बैंक भांग की खेती का वास्ता लोन द्याली हैं ?
घ्याळ दा -हाँ जब सरकार तै पता ह्वेक बि तम्बाकू की खेती का वास्ता लोन अर सब्सिडी दे सकदी तो भांग की खेती का वास्ता किलै ना बोल सकदी ?


27 /4/15 ,Copyright@ Bhishma Kukreti , Mumbai India 
*लेख की   घटनाएँ ,  स्थान व नाम काल्पनिक हैं । लेख में  कथाएँ चरित्र , स्थान केवल व्यंग्य रचने  हेतु उपयोग किये गए हैं।
 Best of Garhwali Humor Literature in Garhwali Language  , Hemp Production; Best of Himalayan Satire in Garhwali Language Literature, Hemp Production ; Best of  Uttarakhandi Wit in Garhwali Language Literature , Hemp Production ; Best of  North Indian Spoof in Garhwali Language Literature, Hemp Production ; Best of  Regional Language Lampoon in Garhwali Language  Literature, Hemp Production; Best of  Ridicule in Garhwali Language Literature  , Hemp Production; Best of  Mockery in Garhwali Language Literature    ; Best of  Send-up in Garhwali LanguageLiterature  ; Best of  Disdain in Garhwali Language Literature  ; Best of  Hilarity in Garhwali Language Literature  ; Best of  Cheerfulness in Garhwali Language  Literature  ;  Best of Garhwali Humor in Garhwali Language Literature  from Pauri Garhwal  ; Best of Himalayan Satire Literature in Garhwali Language from Rudraprayag Garhwal  ; Best of Uttarakhandi Wit in Garhwali Language from Chamoli Garhwal  ; Best of North Indian Spoof in Garhwali Language from Tehri Garhwal  ; Best of Regional Language Lampoon in Garhwali Language from Uttarkashi Garhwal  ; Best of Ridicule in Garhwali Language from Bhabhar Garhwal  ; Best of Mockery  in Garhwali Language from Lansdowne Garhwal  ; Best of Hilarity in Garhwali Language from Kotdwara Garhwal  ; Best of Cheerfulness in Garhwali Language from Haridwar  ;
Garhwali Vyangya , Garhwali Hasya,  Garhwali skits; Garhwali short skits, Garhwali Comedy Skits, Humorous Skits in Garhwali, Wit Garhwali Skits