उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Tuesday, June 8, 2010

थिन्च्वणि / थिंच्वाणी (Crushed Vegetable)

Uttarakhand Cuisines, Kumauni Recipes, Garhwali Khana Khazana, Uttarakhand ka Bhojan, Kumauni Food,
Recipes of Uttarakhand
थिन्च्वणि / थिंच्वाणी (Crushed Vegetable)
भीष्म कुकरेती

थिन्च्वणि को अर्थ होंद थींची क . सब्जी तैं सिलवट मा धौरिक ल्वाड़न थिंचे जांद अर तब यांक सूखी भुज्जी या तरीदार साग बणये जांद
थिन्च्वणि द्वी किस्म क hund एक ट निखालिश एक ही सब्जी की थिन्च्वणि-भुज्जी या फिर रल़ो मिसोऊ कौरिक मिश्रित थिन्च्वणि .
फिर आलण कु दगड़ या बगैर आलण (curry making medium ) कु बि थिन्च्वणि होंद . आलण बि कथ्या किसम हुन्द जन की मुन्ग्र्युं ऑटो , झंग्वर , कौणि , गहथ को मस्यट , उन आलू, पिंडालू मा त आलण बणणो गुण होंद
जादातर मूला, पिंडालू , अल्लू , तैडू छीमी, कु थिन्च्वणि बणद , पण लम्यंड (चचिंडा ), गूदड़ी (तोरई ) , मुला क जिन्न पत्ता, सूंट, छीमी क फुळडउ, हरो छ्वटु खीरा दाणु , बसिंगु क बि थिन्च्वणि बणदू ,
थिन्च्युं चीज तै छौंकिक मैणु मसाला मिलैक तरीदार साग या सूखी भुज्जी बणये जांद

Copyright@ Bhishma Kukreti, Mumbai, India, 2010