उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Tuesday, June 22, 2010

खाणक सम्बन्धी रिवाज - : भूतूं / भूतों क खाणा

Cuisines of Uttarakhand, Cuisines of Garhwal, Cuisines of Kumaon, Kumaoni Recipes, Garhwali recipes,
Uttarakhand Recipes, Food in Uttarakhand (Ethinic)
खाणक सम्बन्धी रिवाज - :
भूतूं / भूतों क खाणा
Bhishma Kukreti
मध्य हिमालय मा भूत पूजै एक आम संस्कृति च रिवाज च .भूत पूजै परांत /पश्चात भूत /भूतूं तै खाणक बि दिए जांद .
सतनाजूं खिच डू / टिकडू : भूतूं खुणि खिचड़ी/खिचडू चौंळ , उड़द मिलैक सात नाजूं तैं मिलैक पकये/बणये जांद अर क ड़ो तेल बि मिलये जांद. खिचडू तैं कूड़ या गाँव क चारों तरफ चुलये जांद .
छाया पूजै मा : छाया केवल जनान्यु पर लगदी अर यांखुण बुखण भुजे जान्दन या चुड़ा भुजे जान्दन . भौत से टैम पर कुखड़ी बि मारे जांद . छाया पूजै मा पैल भितर पश्वा अर पुजारी इखुली पूजा करदन . अर अंत मा कै बडो डाळ तौळ छाया की पूजा होंद उखी कुख्दी च्ध्ये जान्द . कुख्ड़ी मारे नि जांद उनी ज़िंदा छोडे जांद . जें जननी पर छाया पूजे गे हवाऊ वी जनानी से बुखण.चुड़ा नि ल़ीण चयांद

Copyright @ Bhishma Kukreti, Mumbai, India, 2010