उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Thursday, April 26, 2012

Chhal Mantra: A Folk Rite popular in Garhwal-Kumaun for Protection or Defense

Notes on Mantra or Folk Rites popular in Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in South Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in SAARC Countries for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in India for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in North India, Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in Himalaya, Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in Mid Himalaya, Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in Uttarakhand, Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in Kumaun, Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in Garhwal, Asia for Protection or Defense

एसिया में प्रचलित छल का मंत्र, दक्षिण एसिया में प्रचलित छल का मंत्र,
सार्क देशीय में प्रचलित छल का मंत्र, भारत में प्रचलित छल का मंत्र,
उत्तर भारत में प्रचलित छल का मंत्र, हिमालय में प्रचलित छल का मंत्र,
मध्य हिमालय में में प्रचलित छल का मंत्र, उत्तराखंड में प्रचलित छल का मंत्र,
कुमाऊं में प्रचलित छल का मंत्र, गढ़वाल में प्रचलित छल का मंत्र, लेखमाला

                             Bhishma Kukreti
          The mantra is in fact crisis rites. Such ritual arises due to sudden crisis as natural disaster, individual pain disorders, or loss, community loss etc. the following folk rite popular in Garhwal-Kumaun is purely a Nathpanth ritual and there is main deity ‘Narsing’ in the folk rite for protection. There is clear influence of Islamic rites on this folk rite for protection or defense.


कुमाऊं गढ़वाल में प्रचलित छल का मंत्र

Chhal Mantra: A Folk Rite popular in Garhwal-Kumaun for Protection or Defense


नमो आदेशा, माता पिता गुरु देवता को आदेशा , नाद बुड भैरों को आदेशा,
बैरागणी माता को आदेशा, नमो आदेशा, तकपीर को आदेशा, तक्ताने पीर
को आदेशा, मोटे पीर को आदेशा, फाड़ पीर को आदेशा, औत्या पीर को आदेशा,
परिवाच्छा को आदेशा, नादा बुद्ध भैरों का आदेशा, वार विथ्या वार दलाई को आदेशा,
वार्पंथ सन्यासी को आदेशा, चन्द्र सूर्य पौन प्राणी को आदेशा, अघोरनाथ भैरों
को आदेशा, पाई माई धरती को आदेशा, ब्रह्मा की वेदी कालिनका को पुत्र को आदेशा,
कलिनका को पुत्र काल भैरों को आदेशा, चौंसठ जोग्णी को आदेशा,
समुद्र की खाड़ी , छार खाशी को आदेशा, दूधाधारी नरसिंग को आदेशा, बाबा नरसिंग को आदेशा,
विला नारसिंग को आदेशा, दूधाधारी नरसिंग को आदेशा,झनामिरी नारसिंग को आदेशा,
उदागिरी नारसिंग को आदेशा, बुदागिरी माता मन्दोदरी शराग गढ़ी हस्ती, आली चाम मैमन्दा
सिधि जायो , खंडारो चौबाट खंडारो , चारकोश पूर्व को बंथो, चारकोश पश्चिम को बंथो,
चारकोश उत्तर को बंथो, चारकोश दक्षिण को बंथो, नमो आदेशा नारसिंग चले आयो,
अस्सी कोष चले आयो, अस्सी कोश से सीधो सर्व काटें, जापत भाई भरली उभाड़ा
गृहते गोपी का खीला खोरे दे , बावन बीरा बावन भैंसा भी काटे, छटा संक्रा मारे,
संसारी मासाणी , काल़ा गोरखा क्षेत्र पाल, जंतर हमारा मन्त्र तुमारा , श्री गुरु पाद्काओं फोर
मन्त्र इश्वरो वाचा.
Mantra from Garhwal source:
Abodh Bandhu Bahuguna (Jhala, Chalansyun)
Dr. Vishnu Datt Kukreti (Barsudi, langur)


Dr Nandkishor Dhoundiyal, Dr. Manorama Dhoundiyal Garhwali Lokmantra (ek Sanklan)
Himadri Prakashan, Kotdwara
Collected by
Sandeep ishtwal, Isodi, Mvalsyun, Pgarhwal,
DhairyaRam Baudai , Bharpoor, Sabali, P Garhwal
Girish Chandra Dabral, Dabar, Dabralsyun, P.Garhwal
Keshvanand Maindola, Sidhpur, Rikhnikhal, P Garhwal
Ghuttaram Jagri, Bilkot, Nanindandaa, P Garhwal
Dharmanand Jakhmola’patwariji’, village Jaspur , Garhwal
Copyright@ Bhishma Kukreti

Notes on Mantra or Folk Rites popular in Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in South Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in SAARC Countries, Asia  for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in India, Asia  for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in North India, Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in Himalaya, Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in Mid Himalaya, Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in Uttarakhand, Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in Kumaun, Asia for Protection or Defense, Mantra or Folk Rites popular in Garhwal, Asia for Protection or Defense to be continued….

एसिया में प्रचलित छल का मंत्र, दक्षिण एसिया में प्रचलित छल का मंत्र,
सार्क देशीय में प्रचलित छल का मंत्र, भारत में प्रचलित छल का मंत्र,
उत्तर भारत में प्रचलित छल का मंत्र, हिमालय में प्रचलित छल का मंत्र,
मध्य हिमालय में में प्रचलित छल का मंत्र, उत्तराखंड में प्रचलित छल का मंत्र,
कुमाऊं में प्रचलित छल का मंत्र, गढ़वाल में प्रचलित छल का मंत्र, लेखमाला , जारी