उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Thursday, August 21, 2014

फॉर गौड सेक , नो शौचालय निधि टॉक प्लीज !

घपरोळया , हंसोड्या , चुनगेर ,चबोड़्या -चखन्यौर्या -भीष्म कुकरेती      
                     
(s =आधी अ  = अ , क , का , की ,  आदि )
अचकाल जखिम बि जावो तखिम प्राइवेट -पब्लिक पार्टीसिपेसन (PPP) की छ्वीं लगणी रौंदन।  मि तैं त डौर च कि इनि PPP तैं महत्व मिल्दो राल त एक दिन इन बि आल कि अम्बानी , अडानी , टाटा,  बिरला की कंपनी सेना तैं किराया पर सिपाही अर पैटन टैंक बि सप्लाई कारली।  
अबि सि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदीन पंदरा अगस्तौ कुण लाल किला से भारत मा देवालयुं जगा शौचालय बणानै फिर से भारतीयों तैं आवाहन कार।  यद्यपि भूतपूर्व केंद्रीय मंत्री जय राम रमेश नरेंद्र भाई पर कॉपीराइट हनन का ऐवज मा मुकदमा ठोकण वाळ छन। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदीन ना केवल सांसद या विधायकों से अपील कार कि अपण सांसद निधि तैं शौचालय निर्माण पर लगावो अपितु प्रधान मन्त्रीन भारतीय ब्यापारी -उद्योगपतियों से बि गुजारिस कार कि मंदिर -मस्जिद निर्माण की जगा शौचालय निर्माण का वास्ता दान कारो। 
हमर बिल्डिंग का समिण  एक सार्वजनिक शौचालय च जैकि कैपेसिटी च दस आदिम प्रति घंटा पर डिमांड च सौ आदिम प्रति घंटा अर वांसे रोज भौत सा अभ्यार्थी अति आतुर्दि मा हमर बिल्डिंग मा आंदन अर शौचालय प्रयोग की प्रार्थना करणा रौंदन।  हमर बिल्डिंग मा शौचालय अभ्यर्थ्युं भीड़ लगीं रौंदि। इखम दस सार्वजनिक शौचालय हौर नि बणल तो यी हाल राल। हमर मुहल्ला मा कम से कम दस हौर सार्वजनिक शौचालयुं की  आवश्यक छन। 
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से प्रेरित ह्वेक मि उद्यमी कमाल  अलघ मा ग्यों।  बड़ी मुस्किल से चार दिन बाद अलघ जी तैं मिलणो समय मील। 
मि नियत समौ पर कमाल अलघ का समिण बैठ्युं छौ। 
मि -मिस्टर कमाल अलघ !
कमाल अलघ -म्यार जबाब ना मा च। 
मि (रक्षात्मक मुद्रा मा ) - पण मीन त बताइ नी च कि मि आपसे मुहल्ला मा सार्वजनिक शौचालय निर्माण निधि का वास्ता आयुं छौं।  प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदीन बि बोलि बल उद्योगपतियुं तैं सार्वजनिक शौचालय निर्माण कारन। 
कमाल अलघ -नाम नही लेना इस आदमी का।  नरेंद्र मोदीन अपण आफत हम ब्यापारियुं पर पिलचै (थोपना ) दे। पंदरा अगस्त बिटेन अर अब तलक मेरि हगणि -मुतणि बंद च। 
मि -पर आपम त सौएक शौचालय ता होला ? 
कमाल अलघ -अरे पर शौच करणो वास्ता बगत बि त हूण चयेंद।  इना नरेंद्र मोदीन अपण भाषण ख़तम कार अर इना लोगुं भीड़ म्यार ऑफिस मा लगण शुरू ह्वे अर सब सार्वजनिक शौचालय का वास्ता दान मंगणा छन। 
मि -हां मि बि  .... 
कमाल अलघ -पर आप अपण नगर सेवक का पास किलै नि गया ?
मि -नगर सेविकाक  बुलण च बल पैल शहर मा पाणी समस्या दूर हूण चयेंद।  शौचालय ह्वे बि जाल पर यदि पाणी नि होलु त शौचालयुं क्या करण ?
कमाल अलघ -तो विधायक मा जांदा ?
मि -विधायक जीक बुलण च बल शहर की असली समस्या सड़क च।  सड़क बणल त लोग सड़क मा बि टट्टी -पेशाब कौरी ल्याल। 
कमाल अलघ -सांसद ?
मि -सांसद बुलणा छन कि सांसद निधि से त आठ दस स्कुलुंम शौचालय बौण सकदन। 
कमाल अलघ -पर !
मि -चूँकि सरकार शौचालय निर्माण नि कौर सकदी तो ही नरेंद्र मोदी जीन उद्योगपतियुं से गुजारिस कार कि कॉर्पोरेट सोसल रिस्पॉन्सिबिलिटीज  का तहत भारत मा शौचालय बणाओ। 
कमाल अलघ -खबरदार ! नाम मत लेना  नरेंद्र मोदिका !
मि -पर आप तो नरेंद्र मोदिका बड़ा प्रशंसक छया।  चुनावुं बगत टीवी शोऊं मा आप नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करदा नि अघांद छया ?
कमाल अलघ -हाँ।  अब क्या बताऊँ ! मेरी करीबन दस फैक्ट्री तकरीबन तकरीबन बंद पड़ीं छन।  लाभ की स्थिति छ नी च।  शौचालय बणाण सरकार कु काम च।  हमर काम च मोटर रेसिंग , हॉर्स रेसिंग जन खेलूं तैं बढ़ावा दीण। 
मि -आप तैं अपण कॉर्पोरेट सोसल रिस्पॉन्सिबिलिटी निभाण पोड़ल ही। 
कमाल अलघ -हाँ पर जब मेरी फैक्टरी चलणा राल अर मुनाफ़ा ह्वाल तो ही तो मि  अपण कॉर्पोरेट सोसल रिस्पॉन्सिबिलिटी निभौल कि ना ?
मि -तो फैक्टरी चलाओ अर मुनाफ़ा कमाओ अर अपण कॉर्पोरेट सोसल रिस्पॉन्सिबिलिटी निभाओ !
कमाल अलघ -हां पर जब सरकार हम उद्योगपतियुं तैं ब्याजमुक्त बैंक लोन मुहय्या कराली , एक्स्ट्रा इंसेंटिव द्याली तबि त हमर फैक्ट्री दुबर खड़ी होली अर हम फैक्टरी चलाण लैक होला। 
मि -पर जथगा लोन तुम तैं दिए जाल उथगा पैसों से तो भारत मा शौचालयों कु जाळ बिछ जाल। 
कमाल अलघ -हाँ पर शौचालय निर्माण से रोजगार त नि बढ़दन ना !   रोजगार नि बढ़ल त अच्छा दिन नि ऐ सकदन। 
मि - मतबल इखम बि अंडा पैल आयि कि मुर्गी पैल आयि वळि  स्थिति च। सरकार पैलि उद्योगूँ तै सहायता देली अर तब जैक ही उद्योगपति शौचालय निर्माण मा सरकार तैं सहयोग द्याली ?
कमाल अलघ - बिलकुल सत्य बचन।  अब जावो मीन  आज छै सौ सोसल वर्करुं तैं इनि समझाण कि जब तलक सरकार उद्यमुं की सहायता नि कारली उद्योग शौचालय निर्माण मा सहयोग नि कर सकदन। 



Copyright@  Bhishma Kukreti  18 /0/8/ 2014       
*लेख में  घटनाएँ , स्थान व नाम काल्पनिक हैं । 

 
Garhwali Humor in Garhwali Language, Himalayan Satire in Garhwali Language , Uttarakhandi Wit in Garhwali Language , North Indian Spoof in Garhwali Language , Regional Language Lampoon in Garhwali Language , Ridicule in Garhwali Language  , Mockery in Garhwali Language, Send-up in Garhwali Language, Disdain in Garhwali Language, Hilarity in Garhwali Language, Cheerfulness in Garhwali Language; Garhwali Humor in Garhwali Language from Pauri Garhwal; Himalayan Satire in Garhwali Language from Rudraprayag Garhwal; Uttarakhandi Wit in Garhwali Language from Chamoli Garhwal; North Indian Spoof in Garhwali Language from Tehri Garhwal; , Regional Language Lampoon in Garhwali Language from Uttarkashi Garhwal; Ridicule in Garhwali Language from Bhabhar Garhwal; Mockery  in Garhwali Language from Lansdowne Garhwal; Hilarity in Garhwali Language from Kotdwara Garhwal; Cheerfulness in Garhwali Language from Haridwar;