उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Monday, May 14, 2012

Garhwali Poem by Brijendra Negi

मन .....रे ....गा ...
                                   - बृजेन्द्र  नेगी (सहारनपुर  )


मनरेगा,  म .न .रे .गा ., मन ....रे .....गा ....
सौ  रुपलट्टी   खुण नाक-मुंड - थुन्थुरु  रेचा
आन -बान -शान -मान ,   सम्मान      बेचा
बिकासौ  जग्गा, उत्तराखंड कु  विणास   कैज़ा
मनरेगा,  म .न .रे .गा ., मन ....रे .....गा .....


पुंगड़ा  - पट्टला,  बाड़ा -सग्वाडा  बांज़ा  कैज़ा
रिक्क-बाग़ , गूणी -बांदर, स्याळ  -सुंगर गुठ्यार  पौंछा
कच्ची-पक्की, सुल्पा-गाँजा, नशा-नसेड़ी कु  दैण ह्वेजा
निकज्जू  मनिख्युं  का ,   खड़ा   घुंज्जा     कैज़ा
मनरेगा,     म .न .रे .गा .,    मन ....रे .....गा .....
Copyright@ Brijendra Negi