उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Monday, May 7, 2012

कुमाऊं व गढ़वाल में प्रचलित दाग उतारने का मंत्र /नजर उतारने का मंत्र

कुमाऊं व गढ़वाल में प्रचलित दाग उतारने का मंत्र /नजर उतारने का मंत्र
ओउम नमो गुरु जी को आदेस .
हो वीर चक्र धारिणी असमानीय पठान आयो मैद्दा लोदा पठान को नाली
खाप्राचारी को बेटा लद्दाक दलैला पठान अमर पचि म्स्लानी फकरी खुले में पड़ता है
संगी नाम भजता है , पूजा अपनी लेता है ,
सरे जादू मंगता है , चौकी अपनी रखता है,
सुमरन सेज वे कु लगाना पड़ता है, निगुरु पन्थ्य को मार,
लेटा दि मसाणि को मार,
गुजरनि तुरखाणि को मार,
मुसलमानी उढत कौ मार,
सेरजादू को मार,
मुसलमानी की चौट को मार,
मारी बदकरनी लाई तो , स्वा शेर को तु सो नी पायी
मुर्गा की बली नी पायी ,
दम को दरिया को वाच बासो नी पायी , फॉर मंत्र जाग मंत्र जंत्र इश्वरी वाच .
महाराष्ट्र में प्रचलित दाग उतारने का मंत्र
ओउम नमो गुरु जी को आदेस
तुझ्या नवे भूत पळे , प्रेत पळे, खबीस पळे, सब पळे अरिष्ट पळे
न पळे गुरु की गोरख नाथ की बीद माहीचले गुरु की संगत मेरी भगत चले मंत्र इश्वरा वाचा.