उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Wednesday, October 17, 2012

ना ! ना ! नौनु पढ़ाणो ऑक्सफोर्ड कतै नि भिजण

व्यंग्य साहित्य गढ़वाली में
चबोड़ इ चबोड़ मा, हौंस इ हौंस मा
                        ना ! ना ! नौनु पढ़ाणो ऑक्सफोर्ड कतै नि भिजण
                                                  चबोड्या: भीष्म कुकरेती
- ह्यां ! ऑक्सफोर्ड विश्विद्यालय दुन्या मा एक सबसे पुराणों विश्वविद्यालय च।
-सब झूट बुल्दन बल ऑक्सफोर्ड विश्विद्यालय दुनिया क सबसे पुराणि यूनिवर्सिटी च
- पूरा क पूरा सबूत छन बल ईख सन 1096 से पढ़ै हूंद
- काण्ड लगाण इन दुन्या क सबसे पुराणि यूनिवर्सिटी पर . क्या कन ?
-कन क्या च मतलब? अरे अपण छौना तै ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी पढ़ाणो भिजण अर क्या ?
-ह्यां पढ़ाणो भिजण या बिगाड़णो भिजण ?
--त्यार बुलणो मतलब च कि ऑक्सफोर्ड विश्विद्यालय माँ छोरा बिगचि जांदन ?
- हाँ ! हौर क्या ?
- ओ हो ! जाणदि छे बल यीं यूनिवर्सिटी क छात्रो मादे कथगा इ बड़ा बड़ा प्रसिद्ध लोग ह्वेन।
- मै तै त नि लगद बल या यूनिवर्सिटी काबिल मनिख बणै सकदी
-ऑक्सफोर्ड विश्विद्यालय का पचास से जादा विद्यार्थ्युं तै ओलम्पिक मैडल मील
-क्या कुण ? कै एनजीओ क नाम पर चोरी जारी करणो बान ओलम्पिक मैडल मील ह्वाल त कुज्याण।
- भागवान ! ! ऑक्सफोर्ड बिटेन नामी गिरामी लेखक पैदा ह्वेन .
- जरुर जाळी साजी का लेखक पैदा ह्वे हवाल जौन नकली सर्टिफिकेट बणैक गोलमाल कौरि ह्वाल जन ऑक्सफोर्ड का डिग्रीधारी अपण सलमान खुर्सीद क एनजीओ मा लिखापढ़ी क गोरख धंधा ह्वाई .
-तू बि ना केजरीवाल जन नकारात्मक सोच कि ह्वे गे . ऑक्सफोर्ड विश्विद्यालय का कथगा इ छात्रो तै लेखन मा पुरूस्कार मील
- हाँ मि बि चांदो कि गलत सलत ब्योरा लिखणो बान सलमान खुर्सीद आर लुईस खुर्सीद तै बि ज्ञानपीठ पुरूस्कार मिलण चएंद जां से ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी क नाम हौर अग्वाड़ी बढ़ी जाओ .
- ईं यूनिवर्सिटी का कथगा इ छात्र दुनिया का नामी गिरामी अर्थशास्त्री ह्वेन .आदम स्मिथ, अमर्त्य सेन , मनमोहन सिंग जन अर्थशास्त्री बि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी का इ छात्र छया .
-हां इखमा द्वि राय नि ह्वे सकद कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी मा अर्थशास्त्र की पढै बढ़िया ढंग से हूंद . सलमान खुर्सीद क एनजीओ घोटाला बि त अर्थशास्त्र का कथगा इ नया नया सिद्धांत बथान्दो , इन घोटाला नई खोज च अर्थशास्त्र माँ
- मेरी ममी ! ऑक्सफोर्ड विश्विद्यालय का कथगा इ छात्र बड़ा बड़ा नाटककार , कलाकार ह्वेन
- छौना क बुबा जी ! तुम सै बुलणा छंवां ऑक्सफोर्ड विश्विद्यालय नाटककार बि पैदा करद . सि ऑक्सफोर्ड विश्विद्यालय का आभूषण छात्र अपणा सलमान खुर्सीद यांको बडो बढ़िया संदेष्टि च, उदाहरण च बल ऑक्सफोर्डविश्विद्यालय माँ सलमान खुर्सीद जन बेशर्म नाटककार बि पैदा हून्दन .
- ह्यां मीन पता लगै याल बल इख बीस क्रिस्चियन सन्तुन पौढ़
-ना ना सब झूट च ऑक्सफोर्ड विश्विद्यालय बिटेन संत पैदा इ नि ह्वे सकदन .
- जु सलमान खुर्सीद का ढोंग देखिक बुलण त मि बोलि सकुद कि इखाक संत जरा सि भगार लगण पर गुस्सा ह्वे जांदन , गुस्सा मा भगार लगाण वाळ कुणि बुल्दन बल एक दै फरुखाबाद आ त सै फिर दिखुद कि कनै फरुखाबाद बिटेन वापस बौडिक आन्द धौं .इखाक संत जन सलमान खुर्सीद बुल्दो कि अब मि पेन की स्याई छोडिक खून से लिखुल
- ये निर्भागण ! क्या बुलणि छे . जौं संतु क बात मीन कार कि वो सचेकी महान संत ह्वेन .
- तो यांक मतबल च कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी क पढ्या लिख्याँ कों यो मतबल नी च कि वों सबि भला आदिम ह्वालो ही .
-हाँ
- तो फिर यु सलमान खुर्सीद किलै दलील दीणो च बल चूंकि मि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी को छात्र छौं त मि विद्वान् छौं , चूंकि मि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी को छात्र छौं त मि इमानदार छौं .चूंकि मि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी को छात्र छौं त मि पवित्र छौं .
-ओहो एकाद छात्र उछ्यादी ह्वे सकदन . हम तै अपुण नौनु तै ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी पढ़ाणो भिजण चयेंद .
-ये सलमान खुर्सीदक ढंग ढाळ से त मि बोलि सकुद बल जब ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी मा अमानत मा खयानत इ सिखण, लुच्चापन इ सिखण, बदमाशी इ सिखण त ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी इ क्या कखि बि किलै पढ़ाण ? पढ़ाई को मतलब च कि इमानदारी . अर इख त ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी को महान , ब्रिलियंट छात्र सलमान खुर्सीद की इमानदारी पर इ चिन्ह लग्युं च !

Copyright@ Bhishma Kukreti 18/10/2012