उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Thursday, July 3, 2014

कांगू- गरीब (कंगला )

कबास- कपास 
कटमचूर- चूर चूर होना 
कणखिला – टूटे चावल 
कुंद – उदास 
कुरुस्ट- बुरी तरह नाराज 
कैंच्लू- कैंची
करकरी – करारी
कुरपनु- कुतरना
कुतरनु- कुतरना
कन्कट्टू- कनकटा
कटंगर मटनगर - कूड़ा करकट
कचभूक-- पूरी तरह से भूख न लगना
कपूर - कपूर वृक्ष (सिनेमोमम केम्फोरा )
कलमीण- एक छोटा पेड़
कलमीण- काले वर्ण वाला
कमोली – हांडी
करार – इकरारनामा
कुरू- सर्दियों में फसलो के साथ उगने वाला
फलिवाला खर पतवार
कान्गुली- एक लता
कांगू- एक लता
कांगू- गरीब (कंगला )
कमेडू- कोना , लिखने के भी काम आता था
काकड़ सिंगी – एक औषधि
कम्प्वारु- कंपकंपाहट
कंडाली - बिच्छू घास
काफल – काफल एक उत्तराखंडी फल
कांस- सरकंडा घास
किन्गोड़ा- दारू हरिद्रा
केदारपाती – एक पेड़ (एस्केमिया लौरिला )
कड़बच- पशुओ द्वारा सूखे डंठल चबाते समय निकलने वाली ध्वनि
काँठु - शिखर
किटणु- ठूंसना
किटोक – ठसाठस भरे होने पर होने वाली परेशानी
कुजारा - बुरे बुखार (अजार)
करता – कर्ता यानि ईश्वर
कचील – कीचड़
कच्लेनू- कुचल देना
कुचील – अपवित्र करना खासकर देव आत्माओ को
कुसाणु- अंगो का सूज कर शक्तिहीन होना
कुस्वाणु- जो देखने में सुहाए नहीं

@Dinesh Bijalwan