उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Wednesday, November 11, 2015

रूप कैको (डा चातक की स्मरणीय कविता )

रचना --    स्वर्गीय डा गोविन्द चातक    ( जन्म  - 1933,-  लोस्तु , बडियार गढ़ , टिहरी गढ़वाल  ) 
Poetry by - Dr Govind Chatak 
( विभिन्न युग की गढ़वाली कविताएँ श्रृंखला )
-इंटरनेट प्रस्तुति और व्याख्या - भीष्म कुकरेती 
-
आज अंख्यों मा रूप कैको जोन्याळी सी छाये ,
फेर बाडळी बणीक कुई आज मैं मू -सी आये। 
ऐंन आँसुन भीजीं कैकी द्वी आंखी वो गीली ,
फ्यूंळी की पाँखुड़ी सी , मुखड़ी स्या कैकी पीली। 
फफरांदा होंठ ऐन वो लाज से जना झुक्यां ,
प्यार का वो बोल ऐन मुख मा ही रुक्यां। 
सुखी गाड -सी मेरी जळी जिकुड़ी ऐंच ,
सौंण की रोंदेड़ कुयेड़ी या कैन बुलाये ?
डूबी गैन अँध्यारा मा डांडी-काँठी भरेण लैगे उदासी ,
मेरी ही तरौं लटकिगे पीठ फेरीक सूरज सो प्रवासी। 
फूलूं की पंखुड्यों की सेज मा देख बथौं यो ओंगण लैगे ,
निराशेक कैकी जाग मा थकीक विचारी जोन स्यैगे। 
सुपिनों मा खोयेगी जिकुड़ी स्यां स्यां कर्दी गाड की ,
अगास की अंग्वाळ मा सर्किगे धरती ब्यौली सी लाड की। 
जिंदगी छळेन्दी औणी छ जनो ओडार को -सी घाम।,
मैं कू तेरी याद लीक कनी या अँध्यारी रात आये। 


-
( साभार --शैलवाणी , अंग्वाळ )
Poetry Copyright@ Poet or poet's heirs
Copyright @ Bhishma Kukreti  interpretation if any

Modern Garhwali Folk Songs, Modern Garhwali Folk Verses, Modern Poetries, Contemporary Poetries, Contemporary folk Poetries from Garhwal; Modern Garhwali Folk Songs, Modern Garhwali Folk Verses, Modern Poetries, Contemporary Poetries, Contemporary folk Poetries from Pauri Garhwal; Modern Garhwali Folk Songs, Modern Garhwali Folk Verses, Modern Poetries, Contemporary Poetries, Contemporary folk Poetries from Chamoli Garhwal; Modern Garhwali Folk Songs, Modern Garhwali Folk Verses, Modern Poetries, Contemporary Poetries, Contemporary folk Poetries from Rudraprayag Garhwal; Modern Garhwali Folk Songs, Modern Garhwali Folk Verses, Modern Poetries, Contemporary Poetries, Contemporary folk Poetries from Tehri Garhwal; Modern Garhwali Folk Songs, Modern Garhwali Folk Verses, Modern Poetries, Contemporary Poetries, Contemporary Folk Poetries from Uttarkashi Garhwal; Modern Garhwali Folk Songs, Modern Garhwali Folk Verses, Modern Poetries, Contemporary Poetries, Contemporary folk Poetries from Dehradun Garhwal;
पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखंड  से गढ़वाली लोकगीत , कविता ; चमोली गढ़वाल, उत्तराखंड  से गढ़वाली लोकगीत , कविता ; रुद्रप्रयाग गढ़वाल, उत्तराखंड  से गढ़वाली लोकगीत , कविता ;टिहरी गढ़वाल, उत्तराखंड  से गढ़वाली लोकगीत , कविता ;उत्तरकाशी गढ़वाल, उत्तराखंड  से गढ़वाली लोकगीत , कविता ; देहरादून गढ़वाल, उत्तराखंड  से गढ़वाली लोकगीत , कविता ;