उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Thursday, January 4, 2018

देवरानी जाति का डाडामंडी क्षेत्र से पैनों क्षेत्र देसान्तरित होना -

(गंगासलाण का वैशिष्ठ्य श्रृंखला )
  आलेख : भीष्म कुकरेती 
-
  देवरानियों का मूल क्षेत्र डुंड्यख -डाडामंडी (लंगूर , शीला पट्टी, पौड़ी गढ़वाल ) है किन्तु कुछ परिवार दूर पैनों पट्टी स्थान्तरित हो गए और वहां ज्याठा गांव में बस गए। 
इसके पीछे लोककथा है कि एक रावत परिवार जो डाडामंडी -भाभर क्षेत्र (उनके हिसाब से ढांगू उदयपुर क्षेत्र ) में खरीक चलाते याने घुमन्तु ग्वाले थे जैसे गुज्जर होते हैं।  यह रावत परिवार पैनों पट्टी में बस गए और मलण गाँव में बस गए।  वहां यह परिवार खूब फ्ला फूला।  जब इन्हें पुरोहित की आवश्यकता पड़ी तो उन्हें अपने पुरखे पुरोहित की याद आयी।  फिर वे डुंड्यख से एक देवरानी पुरोहित को पाइनों ले गए और वहां उन्हें ज्याठ गाँव दे दिया गया।  इस तरह देवरानी जाति गंगासलाण से दूसरे सलाण देसान्तरित हुए। 
    ज्याठ गाँव के आज के उद्यमी श्री अतुल देवरानी , दिल्ली में सामाजिक कार्यों में संलग्न हैं व रुद्रप्रयाग में युवाओं की कई प्रकार से सहायता करते हैं। श्री अतुल देवरानी के पितामह संस्कृत के बड़े ज्ञाता थे व उन्होंने एक पुस्तक भी प्रकाशित की थी व दक्षिण अफ्रीका में उन्होंने पुरोहिती भी की थी। 
(श्री  गोपाल सिंह रावत (मलण गाँव ) द्वारा सूचित ) 
--
सर्वाधिकार @  भीष्म कुकरेती 
जसपुर की विभूतियाँ।  ढांगू पट्टी की विभूतियाँ , डबरालस्यूं पट्टी की विभूतियाँ; अजमेर पट्टी की विभूतियाँ; उदयपुर पट्टी की विभूतियाँ; लंगूर पट्टी की विभूतियाँ; शीला पट्टी की विभूतियाँ;
Famous  Personality of Dhangu Patti,  Garhwal; Famous  Personality of Dabralsyun Patti,  Garhwal; Famous  Personality of Ajmer Patti,  Garhwal; Famous  Personality of Udaypur Patti,  Garhwal; Famous  Personality of Langur Patti,  Garhwal;Famous  Personality of Shila Patti,  Garhwal;