उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Friday, July 10, 2009

भूल न जाना

जो किया प्रण तुमने
मुझको किया धारण तुमने
इस प्रवाहिनी को त्याग कर
उस सागर में मिल न जाना
देखो कंही तुम मुझे
भूल न जाना

तुम्हारे ही विश्वास पर
और तुम्हारे उत्साह पर
में जाता हु लेने तारे
तुम चाँद में खो न जाना
देखो कंही तुम मुझे
भूल न जाना

मेरी पूजा मेरे पुष्प
तुम किसी देव पर न चढाना
तुम ही हो मेरे आराध्य
तुम मेरे लिए वर्णीय
तुम मुझको न ठुकराना
देखो कंही तुम मुझे
भूल न जाना


naveen payaal "छुयाल"