उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Monday, September 26, 2011

यंग उत्तराखंड पाँचवां कैरियर गाइडेंस कैम्प क्वेराला, (सल्ट) अल्मोड़ा, उत्तराखंड)


यंग उत्तराखंड द्वारा दिनांक 23 व 24 सितम्बर 2011 को राजकीय इंटर कालेज क्वेराला, (सल्ट) अल्मोड़ा, उत्तराखंड में दो दिवसीय कैरियर गाइडेंस कैम्प का आयोजन किया गया |

यंग उत्तराखंड द्वारा आयोजित यह पाँचवां कैरियर गाइडेंस कैम्प था | इस कैम्प का मुख्य उद्देश्य कक्षा दसवीं, ग्यारहवी व बारहवी के छात्र-छात्राओं के स्कूली शिक्षा उतीर्ण करने के उपरान्त रोजगार प्राप्त करने व रोजगार के विभिन्न क्षेत्रो के बारे में जानकारी प्रदान करना था |

कैम्प लिए टीम का दिल्ली से प्रस्थान: यंग उत्तराखंड के 11 सदस्यों की टीम दिनांक 22 सितम्बर 2011 को रात्रि 9:00 बजे दिल्ली से क्वेराला, अल्मोड़ा के लिए रवाना हुई |

यंग उत्तराखंड की ओर से इस कैम्प में जाने वाले सदस्य: श्री ललित प्रसाद ढौंडियाल, श्री चन्द्र मोहन ज्योति, श्री भास्कर कांडपाल, श्री के सी एस रावत, श्री नीरज बवाड़ी, श्री जोगिन्दर सिंह रावत, श्री विपिन पंवार, श्री विवेक पटवाल, श्री चन्द्र कान्त नेगी, श्री विजय सिंह बुटोला व श्री मनोज रावत |

टीम का उत्तराखंड में प्रवेश: अगले दिन 23 सितम्बर 2011 को रात चार बजे सदस्यों की टीम रामनगर पहुंची | जलपान आदि करने के बाद सभी सदस्य अपनी शेष यात्रा पूरी करने के लिए चल पड़े | विश्व विख्यात जिम कोर्बेट वन्य जीव अभ्यारण से होते हुए प्रात: पाँच बजे हम मर्चुला पहुचे |  मर्चुला > मौलेखाल > जालीखान > पसिया > झिमोर > डोटियाल > मल्ला मनीला >पुरिया चौड़ होते हुए सदस्यों की टीम प्रात: 8:00 बजे पुरिया चौड़ स्तिथ होटल काफल बुरांश पहुंचे | यहाँ पर श्री जोगिन्दर रावत जी ने टीम के रहने -खाने की व्यस्था की हुयी थी |

कैम्प की कार्यवाही का आरम्भ : नित्य कर्म से निवृत हो कर हम सभी ने नाश्ता किया और प्रात: 9:30 पर टीम राजकीय इंटर कालेज क्वेराला के लिए रवाना हुई | सुबह दस बजे विद्यालय शुरू हुआ कार्यवाहक प्राचार्य डी. के . श्रीवास्तव जी से मुलाकात कर हमने उन्हें कार्यक्रम से पुनः अवगत करवाया | यह कार्यक्रम 10:30 बजे आरम्भ हुआ इस कैम्प में कक्षा दसवीं, ग्यारहवी व बारहवी के 238 विद्यार्थियों ने भाग लिया | सभी छात्र-छात्राओं की बैठने की ब्यवस्था एक हाल में की गयी |   कार्यक्रम के प्रारंभ में श्री चंद्रकांत नेगी ने स्कूल प्रशासन का धन्यवाद करते हुए यंग उत्तराखंड एवं टीम का परिचय दिया तथा छात्र-छात्राओं को करियर के लिए शिक्षा के  महत्व के बारे में बताया | तदुपरांत अपने अपने व्यावसायिक क्षेत्रो के टीम विशेषज्ञों द्वारा कक्षा दसवीं, ग्यारहवी व बारहवी के छात्र-छात्राओं को क्रमवार संबोधित किया | 

श्री ललित प्रशाद ढौंडियाल ने इंजीनिअरिंग एवं मेडिकल सम्बन्धी विषयों में करियर, श्री सी एम ज्योति ने पत्रकारिता, मीडिया (मॉस कम्युनिकेशन) श्री भाष्कर कांडपाल ने सूचना एवं प्रधोगिकी (आईटी) श्री नीरज बावड़ी ने सरकारी नौकरियों एवं प्रबंधन, श्री के सी एस रावत ने सेल्स मार्केटिंग एवं प्रबंधन तथा व्यक्तिगत विकास एवं श्री जोगिन्दर रावत ने जो की उसी स्कूल के छात्र रह चुके है, अपने अनुभव शेयर किये तथा किस तरह शिक्षा में सफलता प्राप्त की जाती है छात्रों को बताया |

दो दिवसीय इस कार्यक्रम में टीम के सदस्यों ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि विद्यार्थियों को शिक्षा के क्षेत्र में दक्षता हासिल करनी चाहिए तथा भविष्य के प्रति सचेत रहना चाहिए । उन्होंने प्रतिभागियों को सूचित करते हुए कहा कि शिक्षार्थियों को विविध क्षेत्रों में अपने ज्ञान को व्यावहारिक रूप देने का प्रयास करना चाहिए | उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को कंप्यूटर, पत्रकारिता व अपनी रूचि विशेष समर्थित रोजगारों की खोज करनी चाहिए तथा इस दिशा में हर सम्भव प्रयास करना चाहिए । टीम के सदस्यों ने सभी विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमें प्रशासनिक सेवाओ में रोजगार के लिए क्या-क्या तैयारिया और प्रयास करना चाहिए |

उन्होंने बताया कि आज  के दौर में शिक्षा का महत्व किसी से छिपा नहीं है। शिक्षा चाहे जीवकोपार्जन के लिए हो, सामाजिक मूल्यों की पुनर्स्थापना  के लिए, या फिर जीवन की सही समझ के लिए। शिक्षा हर हाल में बेहतर जीवन की गांरटी है | आज शिक्षा  का  स्तर  चरम  पर  है  इसीलिए  बिना लक्ष्य निर्धारित  किए पढ़ाई करने का कोई अर्थ  नहीं रह जाता है। आपकी रुचि जिस क्षेत्र में है, उसी को ध्यान में रखकर करियर की प्लानिंग करना  उपयुक्त  माना जा सकता है। यदि  आप 12वीं के बाद जिस भी क्षेत्र या विषय को चुन रहे हैं, उससे संबंधित समुचित योग्यता आपमें है या नहीं, इस तथ्य को पहले से ही परख लें!

अभिभावक व टीम के मध्य बातचीत सत्र: श्री चन्द्र कान्त नेगी जी ने  आमंत्रित माता पिता को  बातचीत सत्र की शुरुआत की | श्री नेगी जी ने   उन्हें अपने बच्चो के प्रति उनकी जिम्मेदारियों से अवगत कराया था साथ ही सभी विसेसज्ञों ने अपने अनुभव एवं किस तरह से बच्चों में अच्छे संस्कार एवं शिक्षा के प्रति रूचि के लिए उचित शिक्षा हेतु मार्गदर्शन किया| अभिभावक मीटिंग में अभिभावक एसोशियेशन के पदाधिकारी भी मौजूद थे उन्होंने एवं अभिवाहकों ने यंग उत्तराखंड के कार्यों को सराहा एवं भविष्य में इनसे कैंप के लिए निवेदन किया

विद्यार्थियों के लिए सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन : टीम के सदस्यों के संबोधन के बाद एक सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन किया गया इस प्रतियोगिता में सभी 238 छात्र-छात्राओ ने भाग लिया |

प्रतियोगिता में पुरुस्कार पाने वाले विद्यार्थी इस प्रकर से थे: 
1. प्रदीप मनराल  (कक्षा 12B, प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त किया तथा प्रमाण-पत्र व स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया)
2. भरत सिंह चौहान  (कक्षा 10, प्रतियोगिता में द्वितीय स्थान प्राप्त किया तथा प्रमाण-पत्र व स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया)
3. जीत सिंह (कक्षा 12A, प्रतियोगिता में तृतीय स्थान प्राप्त किया तथा प्रमाण-पत्र व स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया)

प्रमाण-पत्र व स्मृति चिन्ह वितरण समारोह के पश्चात् इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले शेष सभी प्रतिभागी विद्यार्थियों को उत्साहवर्धन स्वरुप एक-एक प्रमाण पत्र दिया गया | श्री सी के एस रावत ने निम्न छात्रों को स्कूल बैग दान दिए एवं श्री भास्कर कांडपाल ने दो शिक्षकों को कैंप में उनके उत्कृष्ट सहयोग के लिए कुछ पुस्तकें भेंट की |

होनहार निर्धन विद्यार्थियों को छात्रवृति : यंग उत्तराखंड ने इस वर्ष से आर्थिक रूप से कमजोर होनहार 3 निर्धन विद्यार्थियों को उनकी एक वर्ष की शिक्षा हेतु नकद धनराशी के रूप में छात्रवृति योजना की शुरुवात की है | चालू शैक्षिक -सत्र हेतु इस वर्ष यंग उत्तराखंड ने दसंवी तथा ग्याहरवी के 3 विद्यार्थियों को एक वर्ष की शिक्षा हेतु पुस्तके, शिक्षा-शुल्क, जूते, गणवेश, बस्ता, पैन-पेंसिल व् अन्य शिक्षण सामग्री के लिए नकद धनराशी  के रूप में जिन 3 विद्यार्थियों को छात्रवृति प्रदान की गयी उनके नाम इस प्रकार हैं :
नवीन चन्द्र आत्मज श्री प्रकाश राम कक्षा 10
हरीश सिंह आत्मज श्री लक्ष्मण सिंह कक्षा 10
मनोज सिंह आत्मज श्री जगत सिंह कक्षा 11B

कैंप के समापन समारोह में छटी कक्षा के दो छात्रों ने पहाड़ी गीत गाकर सुन्दर समां बांध दिया जिसे टीम एवं शिक्षकों ने बहुत सराहा. अंत में सभी छात्रों को जलपान हेतु बिस्कुट इत्यादि बांटे गए एवं कैंप की समाप्ति की | 

कैम्प का समापन और वापसी : दिनांक 24 सितम्बर को अपने दो दिवसीय कैरियर गाइडेंस कैम्प के सफल आयोजन के समाप्ति के पश्चात यंग उत्तराखंड की टीम ने वहा के माता मानिला के मंदिर जाकर माता के दर्शन कर आशीर्वाद प्राप्त किया | अगले दिन 25 सितम्बर को यंग उत्तराखंड की टीम सुबह 9 बजे दिल्ली के लिए रवाना हुई |

इस प्रकार यंग उत्तराखंड द्वारा आयोजित यह कैरियर गाइडेंस कैम्प का सफल समापन किया | यंग उत्तराखंड इस कैम्प में भाग लेने वाले सभी सदस्यों का आभार प्रकट करती है जिन्होंने अपना अमूल्य समय निकल कर इस कैम्प के सफल समापन में अपना उत्कृष्ट योगदान दिया यंग उत्तराखंड उन सभी अन्य साथियो का भी आभार प्रकट करती है जो कि प्रत्यक्ष व परोक्ष रूप से इस जन-कल्याण कार्यक्रम में सहभागी बने |

निवेदक

टीम यंग उत्तराखंड